चिकने दोस्त को गांडू बनाया

Xxx गांड सेक्स कहानी में पढ़ें कि गे वीडियो देखकर मुझे गांड मारने मराने का शौक लग गया. एक बार मैं एक चिकने लड़के के साथ घूमने गया तो मैंने उसके साथ अट्टा बट्टा किया.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम वैभव है. मैं राजस्थान जयपुर का रहने वाला हूँ. आज मैं आपसे मेरी रियल Xxx गांड सेक्स कहानी शेयर करने जा रहा हूँ.

यह बात 2 साल पहले की है जब मैं कक्षा 12 वीं में पढ़ता था. तब मेरी उम्र 19 वर्ष थी.
रंग गोरा, फिट बॉडी और मैं काफी हैंडसम था.
कई लड़कियां मुझे अपना नंबर देकर चली जाती थीं. कई लड़कियां मेरी फ्रेंड थीं.

मेरे दोस्तों के समूह में मेरे पांच दोस्त थे. सोहेल अली, समर, राहुल, कार्तिक और विशाल.
जिसमें से सोहेल काफी गोरा था.
वो स्कूल में सबसे हैंडसम और बॉडी बिल्डर था, बिल्कुल रियाज़ टिकटॉकर के जैसा था.

मुझे सोहेल और उसका गोरा बदन बहुत अच्छा लगता था.
मेरे गे बनने का कारण वही था.

एक बार मैं पोर्न वीडियो देख रहा था तो मुझे दो हैंडसम लड़कों की सेक्स करते हुए वीडियो नजर आयी.
उस दिन मुझे पता चला कि लड़के भी आपस में सेक्स करते हैं.

फिर मैंने तीन लड़कों के साथ सेक्स किया. अपनी गांड भी मरवाई और उनकी भी मारी.

एक बार स्कूल की तरफ से स्टूडेंट्स को माउंट आबू घुमाने ले जाया जा रहा था.
तो हम पांचों दोस्त भी साथ में गए.
हमने रास्ते भर बहुत एन्जॉय किया.

माउन्ट आबू पहुंचते पहुंचते हमें शाम हो गयी थी.
स्कूल वालों ने एक होटल बुक कर रखा था.

टीचर ने निर्देश दिए कि एक रूम में दो स्टूडेंट सोएंगे.

मैंने आगे बढ़कर सोहेल से एक ही रूम में सोने को कहा.
सोहेल भी मान गया.

सबने खाना खाया और सोने के लिए चल दिए.
सोहेल और मैं रूम में आ गए थे.

थोड़ा गर्मी का मौसम था तो सोहेल अंडरवियर में ही लेटा था और मोबाइल चला रहा था.

उसका गोरा बदन देख कर मेरे अन्दर करंट दौड़ने लगा था.
मैं भी सोहेल के साथ आज रात मजे लूटना चाहता था तो मैं भी अंडरवियर में लेट कर मोबाइल चलाने लगा.

हम दोनों इधर उधर की बातें करने लगे.
वो सामान्य बातें कर रहा था पर मुझे उसके दिल में आग लगानी थी.

मैंने उससे कहा- चल आज पोर्न वीडियो देखते हैं.
वो राजी हो गया.

हम दोनों मजे से पोर्न वीडियो देखने लगे. हम दोनों भी वीडियो के साथ साथ अहह उह्ह्ह करने लगे.

मेरे पास सिगरेट की डिब्बी भी और मैं अपने साथ सारा इन्तजाम लेकर आया था.
मतलब दारू का एक हाफ था कंडोम का पैकेट था और सेक्स की गोलियों का पत्ता था.

मैंने एक सिगरेट सुलगाई और जवान लड़कों की गे वीडियो लगा दी.

उसने भी मेरे साथ सिगरेट पीते हुए वीडियो देखी और कहने लगा- क्या लड़के भी आपस में सेक्स करते हैं?
मैंने बोला- हां.

हम दोनों गे सेक्स वीडियो देखने लगे.

थोड़ी देर बाद वो मुझे नशीली नज़रों से देखने लगा और मेरे बदन पर हाथ फेरने लगा.
मैंने भी कोई प्रतिक्रिया नहीं की.

फिर वो मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही सहलाने लगा.
उसने मुझसे पूछा- क्या तुम मेरे साथ सेक्स करोगे?

मैंने मन में सोचा कि जिस घड़ी का मैं इंतजार कर रहा, वो घड़ी आ गयी.
मैं सोहेल की गांड मारना भी चाहता था और उससे मरवाना भी चाहता था.

मैंने हामी भर दी.
मैं आज की रात को यादगार बनाना चाहता था.

तो मैंने उठ कर अपने बैग से दो कंडोम, तेल और एक सिगरेट का पैकेट निकाला और लेकर बिस्तर पर आ गया.
सोहेल वीडियो देखकर काफी आवाज निकाल रहा था ‘अहह उह ओह्ह्ह …’

मैंने सोहेल से कहा- तेरी अह्ह्ह उह्ह्ह तो मैं निकालता हूँ.

मैं सोहेल के साथ लेट गया और उसके लंड को सहलाने लगा.
उसका लंड अंडरवियर में तन्ना रहा था.

वो भी मेरे लंड को सहलाने लगा.

कमरे में टीवी थी.

मैंने गे वीडियो को टीवी से कनेक्ट कर दिया और वीडियो देखते देखते रोमांस करने लगे.
सोहेल ने पहले कभी सेक्स नहीं किया था.
वो वीडियो में देखकर अच्छे से सीख गया था.

हम दोनों एक दूसरे के होंठों से होंठों को मिलाकर किस करने लगे.
उसका थूक मेरे मुँह में … और मेरा थूक उसके मुँह में जाने लगा.

मेरा शरीर भी गर्म होने लगा.
हमने करीब 15 मिनट तक किस किया.

सोहेल बॉडी बिल्डर था, तो उसका सीना भी किसी बोबे वाली लौंडिया से कम नहीं लग रहा था.
उसका गोरा बदन और गुलाबी निप्पल देख कर मैं मदहोश सा होने लगा था.

फिर मैं उसके बोबे चूसने लगा.
बड़ा मजा आ रहा था.

वो मेरे लंड की मुट्ठ मार रहा था.
मैं बार बार सोहेल के निप्पल चूसता और सोहेल ‘अहह आह ओह माय गॉड …’ कह रहा था.

सोहेल बोला- मुझे नहीं पता था कि लड़कों के साथ सेक्स करके इतना मजा आता है?
मैंने कहा- मेरी जान, अभी तो शुरुआत है.

थोड़ी देर बाद मैंने उसकी अंडरवियर नीचे करना शुरू की तो मैं चौंक गया.
मैंने देखा कि सोहेल का लंड काफी गोरा और बड़ा था, पर मेरे जैसे लंड पर चमड़ी थी, उसके पर नहीं थी.

मैंने सोहेल से पूछा, तो उसने कहा हमारे यहां तो बचपन में ही चमड़ी काट दी जाती है.
मुझे सोहेल का बिना चमड़ी का लम्बा मोटा गोरा लाल लंड काफी अच्छा लग रहा था.
मुझे उससे जलन होने लगी थी.

फिर मैंने उसके लंड को मुँह में लेना शुरू किया, वाकयी में बहुत मज़ा आ रहा था.
वो भी ‘अहह ओह्ह्ह …’ कर रहा था.

मुझे उसका लंड मुँह में लेने में काफी सुख मिल रहा था.
मैं लंड के साथ उसके गुलाबी आंड भी मुँह में लेने लगा तो उसका लंड काफी फड़कने लगा.

अब हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए.

सोहेल बोला- आज तो तूने मुझे जन्नत दिखा दी यार … थैंक्यू.
अब सोहेल मेरा लंड मुँह में और मैं सोहेल का लंड मुँह में लेने लगे थे.

करीब 10 मिनट तक ऐसे ही चलता रहा और कुछ देर के अंतराल में हम दोनों का वीर्य एक दूसरे के मुँह में ही निकल गया.

सोहेल बोला- तेरा माल तो काफी नमकीन है!
मैंने बोला- सबका नमकीन ही रहता है … तेरा भी नमकीन है. मैंने अभी टेस्ट किया है.

वीर्य निकलने के बाद हमारे लंड सोने लगे थे, उन्हें फिर से जगाने की बारी थी.
अब मुख्य काम करना था.

मैंने सेक्स की एक गोली खा लीं और सोहेल को भी गोली दे दी.

सोहेल ने पूछा- ये गोली किसलिए?
मैं बोला- इससे लौड़ा एक घंटा तक खड़ा रहेगा.

पहले सोहेल की गांड मारने की बारी थी.
मैंने कहा- देख सोहेल, तेरी गांड मारने में शुरू में तुझे दर्द तो होगा, पर थोड़ी देर बाद जन्नत दिखने लगेगी.
उसने कहा- हमारे पास आज की रात ही है. जो भी करना है, कर ले.

सोहेल की गांड काफी कसी हुई थी क्योंकि उसने कभी किसी से मरवायी नहीं थी.

मैंने सोहेल की गांड देखी. वो काफी गोरी और गुलाबी थी.
उसे देखकर मैं और मेरा लंड कुछ ज्यादा ही मूड में आ गए.

मैं भूखे शिकारी की तरह उसकी गांड को चाटने लगा और भी हवस के मारे यस अहह ओह्ह उह्ह आवाजें भी निकाल रहा था.
उसकी गांड भी थोड़ी थोड़ी खुलने लगी थी.

मैंने थूक से उसकी गांड भर दी थी.
तब मैंने सोहेल से कहा- क्या तुम चरम सीमा का सुख पाने के लिए तैयार हो?

उसने हां में सर हिलाया.

मुझे मालूम था कि मोटा लम्बा लंड एक बार में घुसने में असहनीय दर्द होता है क्योंकि मुझे गांड मरवाने का एक्सपीरिएंस था.

मैंने लंड पर कंडोम पहना और ऊपर से तेल लगाया. तेल की शीशी से सोहेल की गांड में तेल भर दिया.

वो ये सब देख कर कहने लगा- अरे भोसड़ी वाले … साले, तू तो सब सामान लेकर आया था!
मैंने हंस कर हामी भर दी.

फिर मैंने लंड के टोपे को सोहेल की गांड पर टिकाया और उससे गांड ढीली छोड़ने का कहा.
जैसे ही उसने गांड ढीली की, मैंने एक ही झटके में सोहेल की गांड में लंड घुसेड़ दिया.

सोहेल जोर से चिल्लाया.
मैंने तुरंत उसका मुँह बंद कर दिया.

मैं बोला- अभी कोई आ जाएगा. चिल्ला मत चूतिया.
वो बोला- आं आं बहुत दर्द हो रहा है … छोड़ दे … मुझे नहीं मरवानी.

मैंने कहा- मैंने बोला था न कि थोड़ा दर्द होगा … बाद में मज़ा आएगा. बस अब तुझे मज़ा आने वाला है.
मैंने अपना लंड बाहर निकाला और फिर से पेल दिया.

इस बार उसकी आवाज धीमी हो गयी.
मैंने बिना रुके गांड में लंड चलाना शुरू कर दिया और साथ में उसका लंड भी सहलाता रहा.

कुछ 25 मिनट तक सोहेल को चोद चोद कर मैंने उसकी गांड का भोसड़ा बना दिया था.
सोहेल को भी डबल मज़ा आ रहा था. गांड में लंड चल रहा था और लंड पर मेरा हाथ चल रहा था.

वो बोला- आह भोसड़ी के जल्दी जल्दी चोद … फाड़ डाल आज मेरी.
उसकी बातों से मैं उत्तेजित हो गया और उसे तेजी से चोदने लगा.

थोड़ी देर बाद मेरा माल उसकी गांड में निकल गया.
वो बोला- आंह माल मेरे मुँह में दे देता, मुझे अच्छा लग रहा था.

मैं उसकी गांड मारकर थक गया था, सो लेट गया.
सोहेल मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगा.

करीब 15-20 मिनट बाद मेरा वीर्य फिर से निकल गया और सोहेल उसे पी गया.

थकान के मारे मैं लेटा हुआ ही था कि सोहेल मेरी गांड चाटने लगा.
मैं समझ गया कि अब वो मेरी गांड मारने वाला है.

मुझे भी काफी अच्छा लग रहा था.
फिर उसने बिना कंडोम के तेल मेरी गांड में लगाया और अपने लंड पर भी लगा लिया.

उसने लंड सैट करके एक बार में ही पूरा लंड मेरी गांड में पेल दिया.

मैं तड़प उठा- आई मर गया … साले फाड़ दी.
वो बोला- अब पता चला मादरचोद … कैसा दर्द होता है.

उसका लंड इतना गर्म था, जैसे मेरी गांड में गर्म रॉड पेल दी हो.

फिर थोड़ी देर बाद दर्द कम हुआ और मुझे मज़ा आने लगा.

सोहेल की टाइमिंग काफी अच्छी थी. वो करीब 20 मिनट तक मुझे चोदता रहा.
उसकी टाइमिंग का कारण कभी सेक्स न करना भी था.

Xxx गांड सेक्स करके उसने भी मेरी गांड बहुत चौड़ी कर दी थी. ऐसा गड्डा हो गया था जिसमें पूरा हाथ समा जाए.

फिर मुझे मेरी गांड में कुछ गर्म गर्म महसूस हुआ. उसने भी मेरी गांड में माल निकाल दिया था.

अब फिर से एक एक सिगरेट पीने की बारी आ गई थी.

सोहेल काफी रोमांटिक हो चुका था.
उसने सिगरेट जलाई और मेरी गांड के पास जाकर गांड चाटने लगा.
वो सिगरेट का एक कश लगाता और और सारा धुआँ मेरी गांड में भर देता. साथ ही वो हाथ से मेरी गांड दबा देता.

मेरी गांड में गर्म गर्म धुआँ जा रहा था वो एक अलग ही अहसास था, जो मैं बयां नहीं कर सकता.
अब हम दोनों नहाने गए और नहाने जाने से पहले एसी को फुल कूल पर कर दिया था.

जब हम दोनों नहा कर कमरे में आए तो हमें ठंड लगने लगी थी.
इसी ठंड को शारीरिक गर्मी से दूर करना था.

हम नंगे होकर बेड पर रजाई ओढ़ कर एक दूसरे से लिपट कर लेट गए और किस भी करने लगे.
उसका पूरा शरीर गर्म था और मेरा भी.

बीस मिनट बाद एसी की ठंडक भी हमें ठंडा नहीं कर पाई थी.
अंत में सोहेल मुझसे बोला- वैभव यार, आज हम साथ न सोये होते तो शायद ये सुख ज़िंदगी में कभी नहीं मिलता.

मैंने भी सोहेल को बोला- हां यार, मैंने पहले भी कई लड़कों की गांड मारी. पर जैसा तेरे साथ आज आनन्द मिला, वो पहले कभी नहीं मिला.
हम दोनों रात भर एक दूसरे से लिपट कर ही सोए.

सुबह नींद खुली, तो हम नहाये और तैयार हुए.
फिर सभी स्टूडेंट के साथ माऊंट आबू घूमने गए.

शाम को वापस आए तब सब अपने अपने घर चले गए.
सोहेल भी मुझे अपने घर तक छोड़ने आया और जाते जाते मुझे एक जोरदार किस किया और अपने घर चला गया.

तो दोस्तो, यह थी मेरी और मेरे दोस्त की असली Xxx गांड सेक्स कहानी.
आपको कैसी लगी, कमेंट में जरूर बताना.

Check Also

चार लंड और मेरी अकेली गांड

गे सेक्स ग्रुप स्टोरी में पढ़ें कि मैं लड़कियों जैसा हूँ. मुझे ब्रा पैंटी पहनने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *