चचेरी बहन को चोदने का मौका मिला

हॉट कजिन सिस Xxx कहानी मेरे दूर के चचा की कुंवारी बेटी की पहली बार चुदाई की है. मुझे उसके साथ अकेले रहने का मौका मिला तो मैंने उस गर्म लड़की की वासना जगा कर चोद दिया.

दोस्तो, मेरा नाम राज है और मैं गुजरात का रहने वाला हूं. मेरी उम्र 26 साल है व मेरी हाईट 5’7 इंच है.

मैं हैंडसम लड़का हूँ और सालों से जिम करता आ रहा हूँ, इसलिए मेरी बॉडी बहुत अच्छी है.

मेरी पिछली कहानी थी: मुंहबोली भानजी को बेदर्दी से चोदा

ये हॉट कजिन सिस Xxx कहानी अभी हाल की ही है.
मेरे काम में उस समय वर्क फर्म होम चल रहा था.

उसी दौरान मेरे एक दूर के अंकल को अपने कुछ काम में घर के लोगों की मदद चाहिए थी, इसलिए उन्होंने मुझे अपने पास अहमदाबाद बुला लिया.

अहमदाबाद में अंकल का घर था और उनकी दो लड़कियां थीं.

एक का नाम प्रिया था, उसकी उम्र 24 साल थी.
दूसरी का नाम भूमिका था, उसकी उम्र 19 साल की थी.

मैं उन दोनों बहनों का बड़ा भाई था. ये मेरी दूर की बहनें थीं.

आगे बढ़ने से पहले मैं आपको उन दोनों बहनों का फिगर बता देता हूँ.

प्रिया का फिगर 34-28-36 का था जबकि भूमिका का 30-26-32 का था. दोनों बहुत सेक्सी माल जैसी थीं.

मेरे अंकल काफी रईस थे. उनके पास एक बहुत बड़ा बंगला था और सबके अलग अलग कमरे थे.

मैंने अंकल के पास कुछ दिन रह कर उनके काम में हाथ बंटाया.
उसी दौरान मेरी प्रिया से काफी अच्छी जमने लगी थी और मैं उससे खुल कर सेक्सी बात भी करने लगा था.

कुछ दिन बाद अंकल और बाकी सब परिजनों को गांव जाना था.
अंकल के परिवार में शादी थी जो कि उनके पुश्तैनी गांव में होनी थी.
यह शादी अचानक से तय हो गई थी जिसके कारण अंकल को एक बार फिर से अपने घर की देखभाल के लिए मेरी जरूरत आन पड़ी.

अंकल को उस गांव में शादी में 15 दिनों के लिए जाना था.

तो अंकल ने मुझसे कहा- राज, मुझे गांव में 15 दिन लगेंगे, इसलिए तुम दोनों यहीं रुक जाओ. प्रिया की पढ़ाई का नुकसान न हो, इसलिए इसे शादी में ले जाना उचित नहीं है.
मैंने कहा- ठीक है अंकल आप बेफिक्र रहें मैं इधर ही रुक कर सब देख लूँगा.

अब हम दोनों मतलब मैं और प्रिया बंगले में ही रह गए और बाकी सब लोग गांव के लिए निकल गए.

चूंकि घर में सिर्फ मैं और प्रिया थे … तो रात को प्रिया ने कहा- भैया आप मेरे कमरे में ही सो जाओ, मुझे अकेले डर लगता है.
मैंने कहा- ठीक है.

मैं उसके कमरे में सोने चला गया.
हम दोनों बिस्तर पर लेट कर अपने अपने फोन पर अपना टाइम पास कर रहे थे.

उसी बीच मैंने प्रिया से पूछा- तुम्हारा कोई बीएफ है?
उसने कहा- नहीं है.

मैंने कहा- अरे प्रिया, तुम तो इतनी हॉट और सेक्सी हो. बड़े अचरज की बात है कि तुम्हारा कोई बीएफ नहीं है. मुझे यकीन ही नहीं होता.
उसने कहा- मैं सच बोल रही हूँ भैया.

फिर प्रिया ने मुझसे पूछा- आपकी तो कोई जीएफ होगी ना?
मैंने कहा- फिलहाल अभी कोई नहीं है, पहले थी.
उसने उसका नाम पूछा और सब जानने लगी.

मैंने उसे सब बताया.
उसने पूछा- आपने उसके साथ सेक्स किया था?

मैंने कहा- तुम मेरी छोटी बहन हो, मैं तुम्हें ऐसी बातें नहीं बता पाऊंगा.
प्रिया बोली- मैं आपकी दोस्त भी हूँ, इसलिए मुझे बताएं, उसमें कोई हर्ज नहीं है.

मैंने कहा- ओके तो सुनो. मेरे ब्रेकअप की वजह सेक्स ही था. मैंने अपनी जीएफ को पहली बार में ही बहुत चोदा था. वह मेरा बड़ा लौड़ा नहीं ले पा रही थी, इसलिए उसने मुझसे सेक्स करने के लिए मना कर दिया. उसने साथ में पढ़ने वाली सभी लड़कियों को भी मेरी सेक्स पावर के बारे में बता दिया था इसलिए मुझसे लड़कियां डरने लगी हैं.

ये कह कर मैंने प्रिया को देखा, तो वह थोड़ा शर्मा गई थी.
प्रिया बोली- क्या मैं जान सकती हूँ कि आपका हथियार कितना बड़ा है कि जीएफ तक आपको छोड़ कर चली गई!

मैंने कहा- आठ इंच लम्बा और खीरे जितना मोटा है.
प्रिया हंस कर बोली- बस वह इतने से ही डर गई? जबकि एक लड़की अपनी योनि में से कितने बड़े बच्चे को जन्म देती है और कमाल की बात है कि वह आपके हथियार से डर गई!
मैंने कहा- तुम्हारी बात तो सही है, लेकिन शायद तुमने अभी तक किसी का अपनी बुर में लिया नहीं है, इसलिए तुम ऐसा कह रही हो?

प्रिया बोली- ओके मुझे आपका देखना है. क्या आप मुझे अपना दिखाएंगे?
मैंने कहा- नहीं.

उसने कहा- प्लीज प्लीज.
मैंने कहा- रहने दो यार अभी 15 दिन तक घर पर कोई नहीं है. यदि मेरा लौड़ा तुम्हारे सामने बाहर आ गया तो तुम्हें चुदवाना पड़ेगा.

मैंने ऐसा कहा, तो वह नाराज हो गई.
मैंने उसे काफी मनाया लेकिन वह नहीं समझी.

मैं सो गया.
फिर सुबह उठा तो प्रिया ने मुझसे कहा- आप घर का कुछ काम बाकी है, वह कर देना. मैं जरा अपने काम से बाहर जा रही हूँ.
मैंने कहा- ठीक है. यदि तुमको कहीं दूर जाना हो तो मैं छोड़ दूँ?

वह बोली- हां, मुझे ब्यूटीपार्लर छोड़ दो.
मैंने कहा- ठीक है.

मैंने उसको ड्रॉप किया और अपना काम करने लगा.
चार घंटे बाद मेरा काम हो गया, तो मैं कमरे में लेट गया.

प्रिया अभी नहीं आई थी तो मैंने उसे कॉल किया.
उसने कहा- बस आ रही हूँ.

थोड़ी देर में प्रिया आ गई.
मैंने उसे देखा तो मैं दंग रह गया.
क्या मस्त माल लग रही थी … एकदम चिकनी चमेली बन कर आई थी.
ऊपर से चिकनी थी तो पक्का नीचे वाला मैदान भी चिकना करवा लिया होगा.

उसने फ्रिज में से खाना निकाल कर गर्म किया और हम दोनों ने खाया.

वह नहाने चली गई, वह नहा कर बाहर निकली तो उसने एक लम्बी शर्ट पहनी था, नीचे पजामा वगैरह कुछ नहीं पहना था.
धांसू माल लग रही थी. उसकी जांघें एकदम चिकनी थीं, एक भी बाल नहीं था.
केवल शर्ट पहनी थी तो उसकी नुकीली चूचियों के निप्पल साफ साफ नुमाया हो रहे थे.

मुझसे रहा नहीं गया, तो मैंने कहा- तुम तो बड़ी गजब की लग रही हो.
वह बोली- क्यों?
मैंने बात बदलते हुए कहा- शायद तुम नहा कर आई हो इसीलिए इतनी ज्यादा फ्रेश लग रही हो. मैं भी नहा लेता हूँ.

यह कह कर मैंने अपने सारे कपड़े निकाले और एक चड्डी में आ गया.

वह मेरा गठीला बदन देखने लगी और चड्डी में तने हुए मेरे लौड़े को देख कर मुस्कुराने लगी.

उसकी मुस्कान देख कर मैं भी गर्मा गया.
मेरा लौड़ा टनटनाता हुआ मुझसे बोल रहा था कि आज मेरी प्यास बुझा दे.

मैंने कुछ सोचा और नहाने घुस गया.
उधर नंगा होकर लंड सहलाने लगा और सोचा कि आज रात में मैं सिर्फ एक लोवर ही पहनूँगा.

फिर मैंने अंडरवियर नहीं पहना और बाहर आ गया.

प्रिया अंकल से फोन पर बात कर रही थी.
उसने मुझे देखा तो फोन रखा और मुझसे कहा- 5 दिन बाद भूमिका आ जाएगी, तब मैं गांव जाऊंगी.
मैंने पूछा- क्यों?

प्रिया बोली- मेरा वहां कुछ काम निकल आया है.
मैंने कहा- ठीक है.

उसने मुझे देखते हुए कहा- तुम्हारी बॉडी बहुत अच्छी है.
मैंने कहा- तुम भी कुछ कम नहीं हो!

प्रिया आज मुझे आप से तुम बोल रही थी.

वह बोली- ऊपर ऊपर की बॉडी तो अच्छी है पर …
कहते कहते वह रुक गई.

तो मैंने कहा- रुक जाओ … आज मैं तुम्हें अपनी पूरी बॉडी दिखा देता हूँ.

मैं बाथरूम में गया और अपना लोवर उतार कर नंगा हो गया और एक पल सोचने के बाद मैं नंगा ही बाहर आ गया.

मेरे लौड़े को तना हुआ देख कर प्रिया का मुँह खुला का खुला रह गया.
मेरा मूसल लौड़ा देख कर वह दंग रह गई थी.

मैंने आगे बढ़ कर उसके बाल पकड़े और उसको झुका कर नीचे बिठा दिया.

वह कुछ समझ पाती कि मैंने अपना लौड़ा उसके मुँह में डाल दिया.
उसने खुद को मुझसे छुड़ाने की बहुत कोशिश की मगर मैंने उसे नहीं छोड़ा.

मैंने लौड़े को उसके मुँह में अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.

कुछ दो मिनट बाद मैंने लौड़ा बाहर निकाला तो वह लंबी सांस लेती हुई बोली- आंह … तुम ये क्या कर रहे हो भैया?
मैंने कहा- आज तुम्हारा ये भैया तुम्हें चोदेगा. सुन साली मेरी बात … पूरे बंगले में हम दोनों अकेले हैं … और मुझे पता है कि तुझे भी चुदना है. ऐसा मौका बार बार नहीं मिलता मेरी बात समझ और चुदाई के लिए प्यार से तैयार हो जा, वरना आज तुझे चोदना तो है ही चाहे प्यार से चोदूं या जबरदस्ती. बोल क्या करवाना है!

वह कुछ नहीं बोली.
मैंने उसे खड़ा किया और उसके बाल खोल दिए.

प्रिया कुछ नहीं बोल रही थी.
मैंने उसे घुमाया और पीछे से हाथ आगे लाकर उसके मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.
वह मस्त होने लगी.

मैंने उसकी शर्ट के दोनों पल्लों को पकड़ा और जोर से खींच दिया.
उसके सारे बटन टूट गए और उसके दोनों कबूतर खुली हवा में आजाद हो गए.

मैंने प्रिया की शर्ट को निकाल कर फेंक दिया और उसे उठा कर बेड पर जोर से धकेल दिया.
वह बेड पर चित गिर गई.

मैंने देखा उसने पैंटी भी नहीं पहनी थी. उसकी चूत से पानी निकल रहा था.

मैंने उससे कहा- साली तुझे भी चूत चुदवाना है. इसीलिए तेरी चूत से रस टपक रहा है!
वह हंसने लगी.

मैंने उसकी चूत पर अपना मुँह रख दिया और उसका पानी पीने लगा.

थोड़ी देर तक चूत चाटने के बाद प्रिया बोली- भैया आज मुझे छोड़ना नहीं.

मैं ऊपर आ गया और अपने दोनों हाथों से उसके दोनों हाथ दबा कर किस करने लगा.
मैंने उसके मम्मों को भी बहुत चूसा.

फिर मैंने प्रिया के दोनों पैर ऊपर किए और उसकी चूत पर अपना लौड़ा टिका कर जोर से झटका दे मारा.
लेकिन मेरा खीरा अन्दर नहीं जा पाया.

प्रिया बोली- भैया आज तो ऐसा लग रहा है कि तुम तो मुझे मार ही दोगे!
मैंने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया और लंड को चूत की फाँकों में सैट करके एक जोर से धक्का लगा दिया.

इस बार मेरा आधा लौड़ा उसकी चूत में घुस गया था.
प्रिया के मुँह से जोर की चीख निकली- ऊई मम्मी मर गई … ओह प्लीज छोड़ दो भैया!

मैंने उसकी एक नहीं सुनी और अपना पूरा लौड़ा चूत फाड़ते हुए अन्दर पेल दिया.

उसकी आंखों से आंसू निकल आए और वह मछली सी तड़फने लगी.

उसकी तड़प देख कर मुझे दया आ गई.
तो मैंने लंड बाहर निकाल कर उसे छोड़ दिया.

मैंने देखा उसकी चूत पूरी खून से रंगी थी.
मेरा लौड़ा भी खून से रंगा हुआ था.

मैंने उसकी चूत और मेरे लौड़े को साफ किया.

कुछ मिनट तक मैंने प्रिया को कुछ नहीं किया पर लंड को सिर्फ उसकी चूत नजर आ रही थी.

कुछ देर बाद मैंने वापिस प्रिया को लेटाया और फिर से पूरा लौड़ा घुसा दिया.
उसके मुँह से आह आह उह निकलने लगी.
वह बोल रही थी- भैया, थोड़ा धीरे चोदो.

मैंने उसे बहुत देर तक चोदा और उसकी चूत में ही झड़ गया.

उस रात मैंने प्रिया की चूत में दो राउंड फायरिंग की और उसके ऊपर रहम करते हुए उसे छोड़ दिया.

हम दोनों नंगे ही सो गए.

सुबह जागते ही मैंने अपना लौड़ा प्रिया के मुँह में दे दिया.
अब प्रिया बड़े चाव से अपने मुँह में लंड ले रही थी.

हम दोनों ने चुदाई की और साथ में नहाए. खाना खाया और बाकी का सारा काम किया.

उस रात को मैंने हॉट कजिन सिस Xxx को फिर से चोदा.

अब प्रिया की गांड मारनी बाकी थी, जिसके लिए वह अभी राजी नहीं थी.

मैंने पाँच दिन तक रोज उसे बाथरूम में उसकी गांड में शैंपू की चिकनाई लगा कर उंगली से उसे ढीला किया.
अब जैसे ही वह अपनी गांड ढीली कर लेगी, मुझसे गांड फड़वाने आ जाएगी.

आप मुझे अपने कमेंट्स से बताएं कि आपको मेरी हॉट कजिन सिस Xxx कहानी कैसी लगी.
[email protected]

Check Also

पहला सेक्स सहेली के भाई के साथ

हॉट वर्जिन चूत की चुदाई का मजा मेरी सहेली का बड़ा भाई मुझे चोद कर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *