हॉटेल में वेटर ने मुझे नहाती हुई देखा

नेकेड गर्ल होटल फक स्टोरी में मैंने रूम सर्विस वाले लड़के से चूत मरवा ली. मैं होटल के वाशरूम में नहा रही थी कि वेटर खाना लेकर आ गया. उसने मुझे नंगी देख लिया.

नमस्ते दोस्तो, कैसे हो आप?
आशा है कि आपको मेरी पिछली कहानी
कोच के साथ मौज
पसंद आई होगी।

उम्मीद करती हूं कि आप लोग मेरे अनुभव सुनकर मजे लेते होंगे।

कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता दूं।
मेरी उम्र 24 वर्ष है। मेरा फिगर 40-34-42 है; मेरी ऊंचाई 5.5 इंच है और वजन थोड़ा ज्यादा होने के कारण मेरा शरीर काफी गदराया हुआ दिखता है।

केवल मेरे मम्मे देखकर ही काफी आदमियों का पैंट में ही पानी निकल चुका है।

यह नेकेड गर्ल होटल फक स्टोरी कॉलेज के समय की है।
कॉलेज की छुट्टियों में हम दोस्तों ने बंगलौर घूमने जाने की योजना बनाई।
मेरे साथ मेरी 4 और सहेलियां थी।

प्लान के मुताबिक हमने सारे रिजर्वशन किए, ट्रेन का, होटल का … सब निश्चित करके हम लोग सफर के लिए निकल पड़े।

हम लोग इस ट्रिप के लिए काफी उत्साहित थे और मजे से अपना सफर कर रहे थे।
इस उत्साह में हमारी एक सहेली उसका टिकट लाना भूल गई और टीसी आने के बाद उसे याद आया कि वो टिकट लाना भूल गई है।

इस कारण कहीं टीसी हमको गाड़ी से ना उतार दे इसलिए कुछ करना था।
तो मैंने ऐसा क्या किया जो टीसी ने हमें सफर करने दिया. यह हम लोग अगली कहानी में पढ़ेंगे।

आज हम यह पढ़ेंगे कि कैसे होटल के लड़के ने मुझे नहाती हुई देखा और फिर मुझे चोद दिया।

तो तैयार हो जाइए इस कामुकता से भरे हुए कहानी को पढ़ने के लिए!

हम लोग रात भर ट्रेन का सफर करके सुबह बंगलौर पहुंचे और अपने होटल की और चल पड़े।

होटल में जाकर सब फ्रेश हुए और घूमने जाने के लिए तैयार हो गए।

हालांकि मेरी बहुत इच्छा थी जाने की … पर ट्रेन में हुई जोरदार चुदाई के कारण मैं थक चुकी थी और मुझे सोना था।
तो सब दोस्त घूमने के लिए चली गईं और मैं मस्त सो गई।

कुछ देर बाद जब मेरी नींद खुली, दोपहर का वक्त हुआ था।
मुझे बहुत भूख लगी थी।

इतनी जल्दी तो मेरी सहेलियां आने से रही तो मुझे ही मजबूरन उठना पड़ा।

मैंने रूम सर्विस को कॉल किया और अपने लिए खाना मंगवा लिया।
फिर सोचा कि खाना आने तक नहा लिया जाए.
और मैं नहाने चली गई।

मैं यह भूल गई थी दरवाजा खुला होगा और वैसे ही उसे बिना लॉक किए नहाने चली गई।

और चूंकि मैं रूम में अकेली थी तो मैंने बाथरूम का दरवाजा भी खुला रखा था।

मैं अपने ही धुन में पिछली रात की चुदाई का नशा उतार रही थी।
इस नशे में मुझे वक्त का अहसास ही नहीं रहा और मैं यह तक भूल गई कि मैंने खाना मंगवाया है।

थोड़ी देर बाद होश आया तो मैंने देखा कि कोई मुझे नहाते हुए देख रहा है।
रूम सर्विस का लड़का खाना लेकर आ गया था और रूम लॉक ना होने के कारण सीधा अंदर घुस गया था।

वो एक जवान नेकेड गर्ल को देख रहा था और मुझे और मजा आने लगा।
मैंने ऐसे दिखाया मानो मुझे कुछ पता ही नहीं और अपना कार्यक्रम जारी रखा।

मैं अपने मुंह से सिसकारियां निकालने लगी- हाय क्या चुदाई हुई कल मेरी! उस टीसी ने तो कुछ ज्यादा ही वसूल कर लिए। हाय … मेरी चूत बहुत दर्द कर रही है! काश कोई इसे सहला देता, इसके अंदर अपनी उंगली डालकर उसे प्यार करता, बेचारी बहुत तड़प रही है हाय!
कहकर वही बैठकर चूत सहलाने लगी।

मेरी योजना मुझे सफल होती दिखाई दे रही थी। मेरी इन तमाम हरकतों को देखकर वो लड़का काफी गर्म हो चुका था और अपना लौड़ा पैंट के बाहर निकाल कर सहला रहा था।

उसका लन्ड बड़ा था, उसे देखकर मेरी चूत में जोर से खुजली होने लगी।

मैंने अपना नाटक जारी रखा- हे भगवान … प्लीज़ किसी को मेरी मदद के लिए भेज दे। किसी को भेज दे जो मेरी चूत की आग को शांत करे, मेरी चूत को प्यार करे, उससे खेले, इसे सहलाए, मैं खुशी खुशी उससे चुदवा लूंगी। बस किसी को भेज दे। नेकेड गर्ल नीड फक … चाहे तो मुझे उसकी शक्ल न दिखे पर मुझे चोदने किसी को भेज दे।

यह कहकर मैं डॉगी पोजीशन में आ गई और उस लड़के की राह देखने लगी।

वह थोड़ी देर हिचकिचाया पर उसने आकर पहले मेरे चूतड़ों की दरार को अपने दोनों हाथों से अलग किया और उसे चाटने लगा।

मैं उधर मदहोश होने लगी और सिसकारियां लेने लगी- हाय मेरे राजा, क्या मस्त चूस रहे हो। आआ आह्ह हह … लगता है जल्द ही पानी निकल जायेगा। उफ्फ क्या जुबान है आपकी … मानो किसी मक्खन को चाट रहे हो। आआ अह बहुत मजा आ रहा है, और जोर से चूसो इसे!

और मैं थोड़ी ही देर में झड़ गई।
“अब मेरी चूत को खेलना है, कोई खिलौना दे दो इसे!”
यह सुनकर उसने मेरी चूत में अपना लन्ड तेजी से घुसा दिया।

मैं चिल्ला पड़ी- आआ आह्ह ह्ह हाय … मैं मर गई।
पर उसने चोदना जारी रखा।

बहुत तेजी से वो मुझे चोद रहा था और मैं मजे से चुदाई का आनंद ले रही थी।
वो मुझे वैसे ही कुतिया की अवस्था में चोद रहा था।

सामने से उसने मेरे बाल खींच कर कहा- साली बहनचोद, इस काम के लिए भगवान को क्यों परेशान करती है, मेरे पास तेरे लिए एक बहुत अच्छा खिलौना है। ले इसे मुंह में ले!
कहकर वो मेरे सामने आया और उसका लन्ड मेरी मुंह में दे दिया और मेरा मुंह चोदने लगा।

उसे देखकर ऐसा लग रहा था मानो सालों से भूखा हो।
वो मेरा मुंह अपने हाथ में लेकर अपने लण्ड से बहुत जोर जोर से मेरे मुंह को चोद रहा था।

पहले पहले मुझे थोड़ा अजीब लगा पर बाद में मैं मज़े लेने लगी।

थोड़ी देर मेरे मुंह को चोदने के बाद उसने अपना लण्ड मेरे दोनों तरबूजों के बीच में रखा और ऊपर नीचे करने लगा और मेरे मम्मे दोनो हाथो से सहलाने लगा।

थोड़ी देर बाद उसने एक उंगली मेरी चूत में डाली और मुझे उंगली से चोदने लगा।
मैं पूरी मदहोश थी और पूरा मजा ले रही थी।
मुझे उसकी किसी भी छेड़खानी से कोई आपत्ति नहीं थी।

फिर हम 69 पोजिशन में आए.
वो मेरी चूत चाटने लगा और मैं उसका लण्ड चूसने लगी।

मैं पहली बार 69 पोजिशन में थी मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।
और इसी चक्कर में मैं उसके मुंह में ही झड़ गई।

उसने मेरा पूरा पानी पी लिया और मेरी चूत को चाट चाट कर पूरा साफ कर दिया।

फिर उसने मुझे सीधा किया और मेरे चूत में उंगली डाल दी।
उंगली से थोड़ी देर चोदने के बाद उसने अपना लन्ड मेरे चूत में घुसा दिया और जोर जोर से चोदने लगा।

मैं अब तक 2 बार झड़ चुकी थी और अब थोड़ी थक भी गई थी।
लेकिन वो अभी भी पूरा जोश में था।

उसने बहुत देर तक मुझे जोर जोर से कमर उठा उठा के चोदा।
फिर थोड़ी देर बाद मुझे उसके शरीर में एक अकड़न सी महसूस हुई।

अब उसने उसका लन्ड चूत से बाहर निकाला और मेरे मुंह पर रख दिया और जोर से अपना लण्ड हिलाने लगा।

ऐसा करते ही उसने मेरे मुंह में जोरदार पिचकारी से अपना पूरा माल छोड़ दिया।
मैं उसे पूरा का पूरा पी गई।

इसके बाद हमने अपने अपने कपड़े पहने और वह मेरे होंठ चूस कर चला गया।
मै भी खाना खाकर दोस्तों के इंतज़ार में दोबारा सो गई।

आज की कहानी यही तक थी।
अगली कहानी में मिलेंगे मेरी किसी और सच्ची चुदाई के कहानी के साथ!

तब तक लड़को, अपने लंड को सहलाते रहो और लड़कियो, तुम अपनी चूत में उंगली के साथ गाजर मूली केला और मिले तो लन्ड भी डालती रहो।

आपको मेरी नेकेड गर्ल होटल फक स्टोरी कैसी लगी मुझे मेल करके बताइए।
[email protected]

Check Also

पुताई वाले मजदूर से चुद गई मैं

मैं एक Xxx लड़की हूँ, गंदा सेक्स पसंद करती हूँ. एक दिन मेरे घर में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *