स्टेप मॉम की गैंग बैंग चुदाई की कहानी

Xxx स्टेप मॅाम फक़ स्टोरी में पढ़ें कि मैं और मेरी मम्मी यूपी से मजदूर लाने गए तो मेरी मम्मी ने होटल के कमरे में ही दो मजदूरों के लंड टेस्ट करके देख लिए थे.

दोस्तो, मैं लक्की जाट आपको अपनी सेक्सी स्टेप मॉम की चुदाई की कहानी सुनाने आया हूँ.
यह एकदम सच्ची Xxx स्टेप मॅाम फक़ स्टोरी है.

मेरे घर में मैं और मेरी मॉम ही रहती हैं. मेरी ये मॉम मेरे डैड की दूसरी बीवी हैं.

मेरे डैड ने मेरी असली मॉम के मर जाने के बाद दूसरी शादी की थी.
मेरी सौतेली मॉम और मेरे बीच दस साल का ही फर्क है.

मॉम का नाम स्वीटी है.
मेरी मॉम टाइट टॉप और जींस पहनती हैं.
कभी कभी वो स्कर्ट भी पहन लेती हैं.
वे पूरी मॉर्डन लड़की लगती हैं. उनका फिगर भी काफी सेक्सी है.

पिछले साल कोरोना में डैड की मृत्यु हो गई थी.
अब घर में मैं और मॉम ही रहते हैं.

हमारे पास धन की कोई कमी नहीं है. हमारे कई एकड़ के खेत हैं. शानदार फार्म हाउस है.

यह बात तब की है जब मैं और मेरी मॉम यूपी में अपने खेतों के लिए मजदूर बंदे लेने गए थे.

जब हम वहां पहुंच गए तो हमको किसी भी होटल में रूम नहीं मिला.
दरअसल जिस कसबे में हम दोनों आए थे, उधर कोई ढंग का होटल था ही नहीं.

हम दोनों अपनी कार से आए थे तो मैंने गूगल किया.
उधर से जानकारी मिली कि कुछ किलोमीटर की दूरी पर एक बड़ा शहर है, उधर होटल है.

हम दोनों उसी तरफ को चल दिए.

उधर से कुछ ही दूरी पर बस स्टॉप आ गया.
मॉम ने मुझसे गाड़ी रोकने का कहा.

हम दोनों कार से निकल कर बस स्टॉप पर आ गए.
उधर एक आदमी मिला.

मैंने उससे बात की कि हम लोग यहाँ लेबर लेने आए हैं.
उसने बताया कि वो सामने जो दो आदमी बैठे हैं … उनसे बात कर लो. ये लोग बाहर जाकर मजदूरी करते हैं.

मैंने देखा तो सामने थोड़ी दूर दो मजदूर दारू पी रहे थे.
मैं और मॉम दोनों उनके पास चले गए.
हमने सब कुछ उनको बताया.

वे हम दोनों के साथ चलने को रेडी हो गए.
मॉम को भी वे दोनों काफी पसंद आ गए थे.

मॉम से कह कर मैं पेशाब करने चला गया और मॉम ने उनसे कुछ बात कर ली.

जब मैं वापस आया तो मॉम मुझसे बोलीं- तू गड्डी ले आ. इनको साथ लेकर ही चलते हैं.
मैं कार ले आया.

वे दोनों कार में पीछे बैठ गए और हम उन्हें अपने साथ शहर के होटल में ले गए.
होटल में पहुंच कर मैंने बुकिंग की और दो कमरे ले लिए.

एक में वो दोनों रात को रुकने वाले थे और दूसरे में हम दोनों.

उस समय मॉम ने टाइट जींस पहनी हुई थी, जिसमें से उनकी गांड हमेशा की तरह बाहर को निकल कर मटक रही थी.
वे दोनों मजदूर मेरी मॉम की मटकती गांड को बड़ी ललचाई हुई नजरों से देख रहे थे.

मैंने उनकी भूखी आंखों को देख कर नजरअंदाज कर दिया क्योंकि इसमें उनका कोई दोष नहीं था.
सभी लोग मेरी मॉम को ऐसी ही कामुक नजरों से देखते हैं.

अब हम दोनों ने कमरे में पहुंच कर ड्रिंक की और खाना खाने लगे.
मैं और मेरी मॉम एक साथ ड्रिंक कर लेते थे क्योंकि हमारे घर में ड्रिंक लेना आम बात है.

उधर वे दोनों मजदूर भी सोने के लिए एक दूसरे रूम में चले गए.

रात को 12 बजे मैं बाथरूम के लिए उठा तो मैंने देखा कि मॉम बेड पर नहीं हैं.
जब मैं बाहर की तरफ आया तो दूसरे रूम से मुझको कुछ आवाज़ सुनाई दी.

मैंने जब रूम में झांक कर देखा, तो मेरे होश उड़ गए.
मैंने देखा एक मजदूर ने मॉम की चूत में लंड डाल रखा था और दूसरे ने उनके मुँह में.

दोनों के लंड काफी बड़े बड़े थे.
वे दोनों जोर जोर से मॉम को चोद रहे थे.

मॉम भी किसी रंडी की तरह बोल रही थीं- आह और जोर से चोदो राजा … बड़ा मज़ा आ रहा है.

जो मजदूर चूत में लंड पेले हुए था … और जोर जोर से लंड पेलने लगा.
कुछ ही देर में उन दोनों ने अपना अपना लंड बाहर निकाल कर हिलाया और अपना पानी मॉम के चेहरे पर डाल दिया.

चुदाई खत्म हुई तो वो सब आराम से लेट गए.

मैंने भी अपना लंड बाहर निकाला और हिलाने लगा.

थोड़ी देर बाद वो दोनों फिर से मॉम को किस करने लगे.
मॉम फिर से गर्म हो गईं; वे उन दोनों का लंड चूसने लगीं.

कम से कम दस मिनट तक लंड चूसने के बाद दोनों ने मॉम की जींस का बटन खोल कर जींस को नीचे कर दिया और शर्ट के बटनों को खोल कर मॉम के मम्मों को बाहर निकाल लिया.

फिर एक मजदूर ने मॉम की चूत पर लंड रखा और जोर से धक्का दे मारा.
एक ही धक्के में उसका पूरा लंड मॉम की चूत के अन्दर घुस गया.

मॉम की आंखों में पानी आ गया. वो जोर जोर से ‘आआह आह उई …’ करने लगीं.

उस सांड जैसे मजदूर ने मॉम की चूची को जोर से मसल दिया.
मॉम कराह कर बोलीं- उई मां मर गई … साले बाहर निकाल.

उसको गाली सुनकर और जोश आ गया और वो और जोर जोर से लंड को अन्दर बाहर करने लगा.
फिर दूसरे मजदूर ने अपने लंड पर क्रीम लगाई और अपना लौड़ा मॉम की गांड पर रख कर जोर का धक्का मारा.
उसका पूरा लंड गांड के अन्दर चला गया.

अब एक चूत चोद रहा था और दूसरा गांड में ड्रिल कर रहा था
मेरी मॉम को कुछ देर दर्द हुआ, फिर उन्हें मजा आने लगा था और वो भी उनका पूरा साथ देने लगी थीं.

करीब दो घंटे के सेक्स के बाद मॉम ने अपनी गांड और चूत में तीन बार लंड खाए और अपने कपड़े पहन कर रूम में आ गईं.
वो मेरे बाजू में आकर सो गईं.

मॉर्निंग में मॉम ग्यारह बजे उठीं.
हम दोनों ने खाना खाया और वापस पंजाब आने के लिए रेडी हो गए.

मॉम ने आते समय ब्लैक जींस और वाइट शर्ट पहनी हुई थी.
वो दोनों मजदूर भी रेडी होकर बाहर आ गए.

फिर हम सब पंजाब पहुंच गए और घर आ गए.
घर पहुंच कर हम सब आराम करने लगे.

मॉम मुझसे बोलीं- मैं अभी शॉपिंग करके आती हूँ, फिर शाम को इनको खेत छोड़ कर आना है.
मॉम बाजार चली गईं.

करीब 3 घंटे बाद मॉम वापस आ गईं.
हम सबने चाय पी और मॉम बाथरूम में चली गईं.

जब मॉम बाहर आईं तो मॉम ने लाल रंग की टाइट जींस और स्पोर्ट वाली टी-शर्ट पहनी हुई थी.
उस वक्त शाम के 4 बज रहे थे.

मॉम ने मेकअप किया और लाल लिपिस्टिक लगा कर तैयार हो गईं.
वो उन दोनों को खेतों में लेकर चली गईं.
हमारे खेतों में मोटर लगी हुई थी.

उस समय गन्ने की फसल उगी हुई थी.

मैं भी चुपके से उनके पीछे चला गया.
मॉम उन दोनों को खेत दिखाने लगीं.

खेत देखते देखते वो तीनों गन्ने के एक खेत के अन्दर चले गए.

अन्दर जाने के बाद एक मजदूर बोला- सरदारनी जी, आप बहुत मस्त चुदाई करवाती हो. मेरा मन कर रहा है कि मैं आपको अभी फिर से चोद दूँ.
मॉम इठला कर बोलीं- साले चोद दो, रोका किसने है?

वो दोनों एकदम से मॉम के ऊपर टूट पड़े और जल्द ही नंगे हो गए.
मॉम ने अपनी जींस का बटन खोला और जींस को नीचे कर दिया.

वे नीचे बैठ गईं और दोनों के लौड़े बारी बारी से चूसने लगीं.
मॅाम एक का लंड चूसते हुए बोलीं- बहुत मज़ा आ रहा तुम्हारा लंड चूस कर.

काफी देर तक लंड चूसने के बाद मॉम डॉगी बन गईं और एक के लंड को अपनी चूत में डलवा कर ऊपर सवार हो गईं.
दूसरे ने उनकी गांड में लंड पेल दिया और वो दोनों मॉम की सैंडविच चुदाई करने लगे.

मॉम गाली दे रही थीं- चोदो भैन के लौड़ों … और जोर जोर से चोदो.

उन दोनों ने मॉम के दो घंटे तक सेक्स किया और पूरा माल मॉम के मुँह में डाल दिया.

फिर सबने कपड़े पहने और खेत से बाहर आ गए.
मॉम उनको उनके रूम पर छोड़ने चली गईं.
मैं भी घर आ गया.

मॉम रात के 9 बजे घर आईं.
फिर खाना खाकर हम दोनों सो गए.

अगली सुबह मॉम ने चाय बनाई और हम दोनों चाय पी कर जाने को रेडी हो गए.

आज मॉम ने ब्लू कलर की स्कर्ट पहनी हुई थी.
वे मुझसे बोलीं- मैं खेतों की तरफ जा रही हूँ. मजदूर काम कर रहे हैं या नहीं, मैं देख कर आती हूँ.

मॉम के जाने के बाद मैं भी उनके पीछे चला गया.
जब मैं वहां पहुंचा और देखा कि मॉम उनसे बोल रही थीं कि आज तुम दोनों ड्रिंक करके मेरी चूत और गांड मारना. आज रात मैं तुम्हारे पास ही रहूँगी.

यह सुनकर मुझसे भी कंट्रोल नहीं हुआ.
मैंने मोबाइल में उनकी आगे की बातचीत को रिकार्ड कर लिया.

फिर मॉम घर आ गईं और बोलीं- बेटा, आज रात मेरी सहेलियों की एक पार्टी है, मैं उधर जा रही हूँ. रात को उधर ही रुक जाऊँगी.

मैंने भी कहा- आज आपकी सहेलियों की पार्टी है या अपने खेत में उन दो मजदूरों के साथ चुदने का प्रोग्राम है?
ये सुनकर मॉम एकदम से शॉक्ड हो गईं.

वे मुझसे बोलीं- तुम ये क्या बोल रहे हो? तुम्हें कुछ होश भी है?
मैंने अपना मोबाइल निकाल कर सब कुछ सुना दिया.

मॉम बोलीं- बेटा सॉरी, मुझसे कंट्रोल नहीं होता.
मैं बोला- आप अब मेरे सामने सब कुछ खुल्लम खुल्ला कर सकती हो. मैं कुछ नहीं बोलूंगा. आज रात हम घर में ही ये पार्टी करते हैं. मेरे भी दो दोस्त हैं, जो आपको चोदने को मचलते हैं.

ये सुनकर Xxx स्टेप मॅाम फक़ के लिए राजी हो गईं.
शाम के 5 बज गए थे.

मैंने अपने दोनों दोस्तों को घर बुला लिया.
मॉम ने उन दोनों मजदूर को भी बुलाया लिया.

मैं चार बोतल दारू ले आया.

आज मॉम ने स्कर्ट टॉप पहना हुआ था.
पार्टी स्टार्ट हो गई थी.

मेरे दोस्त, वो दोनों मजदूर और मॉम डांस करने लगे.

डांस करते करते मॉम सबसे किस करने लगीं.

कुछ देर डांस करने के बाद मेरे दोनों दोस्त ओर दोनों मजदूर मॉम को रूम में ले गए.
मैं भी रूम के बाहर से अन्दर का नजारा देखने लगा.

उन चारों ने मॉम को नंगी किया और उसी समय मॉम ने मुझे अन्दर आने का इशारा कर दिया.

सबसे पहले मॉम ने मुझे नंगा किया और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसना चालू किया.
फिर वो बोलीं- आज तू ही सबसे पहले मेरी चूत और गांड में अपना लंड पेलेगा, जिससे चुदाई के इस प्रोग्राम में ज्यादा मजा आए.

मैंने ओके कहा और अपनी स्टेप मॉम को चोदने लगा.
मॉम की चूत बड़ी मस्त थी.

कुछ देर बाद मैंने मॉम को घोड़ी बनाया और उनकी गांड में लंड पेल दिया.
मॉम मेरे लंड से अपनी गांड मरवाने लगीं.

कुछ देर बाद मैं सोफ़े पर बैठ गया और मेरे दोनों दोस्तों ने मेरी मॉम की आगे पीछे से एक साथ चुदाई की.

उन दोस्तों से चुदवाने के बाद उन दोनों मजदूरों का नंबर आया.

मॉम ने कहा- इनके लौड़े सबसे बड़े हैं. यदि इनसे पहले चुदवा लेती तो तुम तीनों के लंड मुझे मजा नहीं दे पाते.

अब उन मजदूरों ने मॉम की चूत और गांड में एक साथ लवड़े पेलना शुरू कर दिए.

उन्होंने मेरी मॉम की चूत का भोसड़ा और गांड का गड्ढा बना दिया.

तो दोस्तो, ये मेरी Xxx स्टेप मॅाम फक़ स्टोरी थी.
आपको कैसी लगी … प्लीज बताएं.
[email protected]

Check Also

छह मर्दों ने मुझे चोदकर प्रेगनेंट किया

Xxx ग्रुप सेक्स कहानी में मैं अपनी सहेली की बहन की शादी में गयी तो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *