मेरी बहन की ननद की काम वासना

हॉट गर्ल न्यू देसी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी बहन के घर में एक लड़की को देखा और उसे दिल दे बैठा. मैंने उसे कैसे सेट किया और उसकी चुदाई की, मजा लें पढ़ कर!

दोस्तो, मैं राहुल आपके सामने अपने जीवन की सच्ची सेक्स कहानी लेकर हाजिर हुआ हूँ.

मैं सन 2010 से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और मैंने इधर प्रकाशित लगभग सभी कहानियां पढ़ी हैं.

मैं उत्तर प्रदेश के एक गांव से हूँ.

मेरी बहन के शादी मेरठ के पास के एक गांव में हुई है.

जब मैं उनके घर रहने गया तो वहां मुझे एक लड़की दिखी.
उसे देख कर मैं अपना आपा खो बैठा.
वो भी मुझे देखने लगी और एक अजीब सा आकर्षण हम दोनों की आंखों में समाया हुआ था.

यह हॉट गर्ल न्यू देसी सेक्स कहानी इसी लड़की की है.

उसकी आंखों में गजब सी कशिश थी और बदन शोला था.
एक दो पल का हमारा आई कॉन्टेक्ट कुछ ऐसा कर गया था कि मैं तो समझो अन्दर तक घायल हो गया था.

वो कुछ ही पल बाद उधर से वापस चली गई थी लेकिन मैं अपनी सुधबुध खो बैठा था.
अगले दस मिनट तक तो मुझे कुछ होश ही नहीं था कि मैं किधर खड़ा हूँ और क्यों खड़ा हूँ.

तभी मेरी दीदी ने आकर मुझे हिलाया और कहा- क्या हो गया है तुझे … मैं कब से आवाज दे रही हूँ?
मैं सकपका गया और मैंने कहा- अरे दीदी, वो एकदम से चक्कर सा गया था … तो ऐसे ही खड़ा हो गया.

मेरे मुँह से चक्कर आने की बात सुनकर दीदी ने मुझे लगभग घसीटते हुए ले जाकर एक खाट पर बिठा दिया और मेरे लिए पानी लेकर आईं.
वो मुझसे पूछने लगीं कि क्या हुआ था तुझे?
अब मैं कैसे बताता कि क्या हुआ था मुझे.

खैर … उस समय वो लड़की मुझे वापस नहीं दिखाई दी.
चूंकि मेरी उससे बात नहीं हो पाई थी तो मुझे जानकारी भी नहीं थी कि वो कौन थी.

मैं उसे देख कर ही उसे चोदने के बारे में सोचने लगा.
उसका हुस्न मेरी आंखों के सामने फिर से उभरने लगा.

उसकी झील सी गहरी आंखों से मेरा पहला टकराव हुआ था तो मुझे सबसे ज्यादा उसकी आंखें ही याद थीं.
लेकिन उसके जिस्म के सबसे खूबसूरत हिस्से थे उसके बूब्स.

सबसे पहले मैंने उसके उठे हुए दूध ही देखे थे और उसके बाद ही मैंने उसे एक नजर भर कर ऊपर से नीचे तक निहारा था.
सादा से और चुस्त से सलवार सूट में उसकी बॉडी की हर आकृति मानो उभर कर दिख रही थी.
पतली सी कमर और नीचे चौड़ी सी गांड का इलाका मानो ऐसे लग रहा कि कोई कोल्ड ड्रिंक की कांच की बोतल हो.

उसकी उठी हुई गांड, लचकती कमर और तने हुए दूध देख कर तो लंड की माँ चुद गई थी.
मैं अब तरकीब सोचने लगा था कि उसके बारे में कैसे जानकारी की जाए और उससे कैसे दुबारा मिला जाए.

मैं अभी यही सब सोच रहा था कि वह फिर से मेरी दीदी की ससुराल में आ गई.
इस बार वह अपने कपड़े बदल कर आई थी और उस समय उसने एक लैगी कुर्ती पहना हुआ था.
वह काफी सज-धज कर आई थी.

मैं खाट से उठ कर बैठ गया और उसे देखने लगा.
उसने भी कनखियों से मुझे निहारा और हल्की सी मुस्कान दे दी.
सच में मैं तो बावला हो गया.

मेरा मुँह चूतियों सा खुला हुआ था और वो पलट कर कोई चीज उठाने लगी.

तब मुझे उसकी छोटी लंबाई की कुर्ती के उठ जाने से चुस्त लैगी में से उसकी गोल गांड के दीदार हुए.
गांड एक पैंटी में कैद थी और मुझे उसकी पैंटी की किनारियां साफ साफ नुमाया हो रही थीं.

वो जिस चीज को उठाने के लिए कोशिश कर रही थी, वो एक बोरी थी.
मैं तुरंत उठ कर उसके पास गया और बिना कुछ बोले उस बोरी को उठा कर उसकी तरफ देखने लगा.
वो फिर से मुस्कुरा दी और बोली- इसे बाहर ले जाना है.

मैंने हां में सर हिलाया और उससे इशारे से कहा- तुम आगे आगे चलो.

वो अपनी गांड मटकाती हुई आगे बढ़ गई और मैं उसके पीछे पीछे अपने हाथों में बोरी को उठाए चलने लगा.
इतने में मेरी दीदी की सास आ गईं.

उन्होंने आवाज देते हुए कहा- अरे बेटा राहुल, तुम क्यों परेशान हो रहे हो. इसे तो मुनिया ले ही जाती.

पहली बार नाम सुना था मुनिया.
बड़ा मीठा सा लगा था … मगर यह तो उसका घर का नाम होगा.
बाहर उसे किस नाम से जाना जाता है, अब ये बात दिमाग में आने लगी थी.

मैंने दीदी की सास से कहा- अरे ठीक है आंटी … मैं ही रख देता हूँ.
मुनिया ने मेरी तरफ देखा और कहा- बस आप इसे दरवाजे के बाहर रख दीजिएगा … उधर से मैं उठवा लूँगी.
मैंने कहा- अरे आप संकोच न करें, मैं इसे उधर रख दूंगा, जिधर आप चाहती हैं.

वह मेरी बहन के घर के बाजू वाले घर में रहती थी और मेरी बहन की ननद लगती थी.
मेरी बहन के पास वह अक्सर आया करती थी.

उस दिन मैं उसके घर तक जाकर बोरी को रख आया.
उसने मुझसे धन्यवाद कहा और पानी के लिए पूछा.

मैंने हामी भर दी और वो मुझे खाट पर बैठने का कह कर पानी लेने चली गई.

कुछ ही देर में वो एक प्लेट में थोड़ा सा गुड़ और एक गिलास में पानी ले आई.
प्लेट उसने खाट पर रखी और पानी का गिलास मुझे पकड़ाया.
मैंने पानी का गिलास लेते समय उसकी उंगलियों को छुआ, तो वो सिहर गई और मेरी आंखों में देखने लगी.

मैंने उससे बात की- आपका नाम क्या है?
उसने बताया कि उसका नाम शशि है.

फिर मैंने उसे ध्यान से देखा. उसकी साइज 32-28-34 की थी … हाइट 5 फुट 2 इंच की थी.
वो दिखने में बला की खूबसूरत लग रही थी.

मेरी उससे पढ़ाई के सिलसिले में बात होनी शुरू हो गई.
वह मुझसे काफी प्रभावित थी और अब मेरी उससे रोज बात होने लगी.
मैंने शशि का नंबर भी ले लिया और अब मैं उससे रात में भी बात करने लगा.

फिर हमारी बात कुछ अलग विषयों पर भी होने लगी थी.
मैं अपने घर वापस आ गया.

धीरे धीरे दिल की बात जुबान पर आ गई और मुहब्बत का इजहार करने का मन बन गया.

फिर वो दिन आ ही गया, जिस दिन मैंने शशि के सामने अपने प्यार का इजहार किया.

यह बात 2017 की फरवरी की है, जब मैंने उसको प्रपोज किया और उसने मेरे प्रपोजल के लिए हां कर दी.

उसकी हां होने के बाद अब मेरी शशि से रोजाना प्यार मुहब्बत की बात होने लगी और अब हम दोनों सीधे सेक्स पर बात करने लगे थे.

मैंने उससे वीडियो कॉल पर भी बात की, तो उसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया.
वह उस समय एक खुले गले वाली नाइटी पहनी हुई थी.

मैंने सीधे कह दिया कि आज तो डेरी फार्म के दीदार हो गए.
वह हंस दी और बोली- क्यों मन डोल गया है क्या?
मैंने कहा- हां दूध पीने का मन है यदि मुनिया जी का मन हो तो पिलाने का ऑफर दे सकती हैं.
वह बोली- अभी थोड़ी देर बाद दिखाती हूँ.
मैंने कहा- फोन चालू रखा है, तुम बाथरूम में आ जाओ.

वो बाथरूम में आ गई और सामने फोन रख कर मुझे अपने जिस्म की नुमाइश करने लगी.
मैंने कहा- नाइटी हटा कर दूध दिखाओ!

वो नखरे करने लगी- ऐसे दूरदर्शन से क्या लाभ होगा. लाइव टेलीकास्ट का मजा लेना है तो बोलो?
मैंने कहा- अभी कहो तो अभी आ जाता हूँ और लाइव फिल्म की शूटिंग कर देता हूँ?

वो बोली- कैसी फिल्म बनानी है?
मैंने कहा- ब्लू-फिल्म बनानी है. तुम एक्ट्रेस होगी और मैं एक्टर!

तभी किसी के बुलाने की आवाज आई.
उसने कहा- अब बाद में फिल्म बना लेना, अभी जाना है.

इस तरह से हम दोनों की बातें चलती रहीं और दिलों की आग बढ़ती गई.
अब मिलने की बात होने लगी.

एक दिन मैंने उसे मिलने के लिए बोला तो उसने हां कर दी.
मैं मेरठ के लिए चल दिया और उससे मिलने के लिए अपनी बहन के घर के लिए निकल गया.

मैं वहां पहुंचा, सबसे मिला.
वह भी आ गई.

फिर हमने मिलने का प्लान बनाया तो उसने बताया कि रात में मेरी गली में आ जाना.

मैं रात होने का इंतजार करता रहा और आखिरकार समय हो गया और मैं उससे मिलने गया.

मैंने उससे कहा- मैं तेरे रूम में आ जाऊंगा.
वो बोली- घर पर सभी हैं.

मैंने उससे किस करने के लिए बोला तो मना करने लगी.
लेकिन मैंने जबरदस्ती किस कर दिया और वो जाने लगी.

मैंने रोका, तो नहीं रुकी और चली गई.
बाद में फोन आया कि सुबह 5 बजे खेत में मिलेंगे.

मैं सुबह गया, वह वहां खड़ी थी.

तब मैं उसे आम के बाग में लेकर गया.
वहां मैंने उसको किस करना शुरू किया तो वो नखरे दिखा रही थी.

मैंने उसे मनाया और उसकी चूचियां दबाने लगा.
वह हॉट गर्ल न्यू देसी सेक्स के लिए तैयार होने लगी और मेरा हाथ पकड़ कर मुझको किस करने लगी.

कुछ ही देर में मेरा 7 इंच का लंड खड़ा हो गया.
मैंने उसको नीचे जमीन पर लिटा दिया और किस करने लगा.

वह भी मादक और सेक्सी आवाज निकालने लगी- आह ऊँह … चोद दो मुझे … आह … अब रुका नहीं जाता. मेरी चूत में अपना लंड डाल दो … मुझे एक बार चोद दो आह … राहुल प्लीज डाल दो!

उसके साथ इतनी देर से चूमाचाटी करने बाद अब मुझसे भी नहीं रुका जा रहा था.
मैं अपना लंड शशि की चूत पर रगड़ने लगा.

वह कमर मटकाने लगी और मादक आवाजें निकालती हुई अपनी गांड ऊपर को उठाने लगी ‘आह प्लीज डाल दो … चोद दो मुझे.’

जैसे ही उसकी आवाज आई … उसी पल मैंने अपना लंड चूत पर रख कर दबा दिया.
उसने भी उसी समय कमर उठा दी और एक ही झटके में मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में चला गया.

वो हल्की सी आह करके लंड गप कर गई.
मैं समझ गया कि साली चुदी चुदाई है.

मैंने पूछा तो उसने बताया- हां मैं पहले भी चुदाई करवा चुकी हूँ.

तब मैंने भी समय न खराब करते हुए उसकी चुदाई चालू रखी.

करीब 20 मिनट तक शशि को चोदने के दौरान ही उसका दो बार स्खलन हो गया था और अब मेरा भी होने को था.

मेरे मन में एक गुस्सा सा था कि ये साली पहले से चुदी पिटी हुई है तो मैंने उससे ये पूछने की जहमत नहीं उठाई कि लंड का पानी किधर निकालूँ.
मैंने सीधे उसकी चुत के अन्दर ही रस निकाल दिया.

वह कहने लगी- अरे यार … ये क्या किया … कहीं मैं प्रेगनेंट हो गई तो?
मैंने कहा- कुछ नहीं होगा, टेंशन मत ले.

कुछ देर बाद मैंने फिर से उसको किस करना शुरू कर दिया.
वह दुबारा सेक्स के लिए मना करने लगी और मैंने भी ज्यादा जोर नहीं दिया.

कुछ देर और रुकने के बाद हम दोनों घर वापस आ गए.
उसके बाद वो मुझे कभी नहीं मिली, हालांकि मेरी उससे फोन पर अभी भी बात हो जाती है.

दोस्तो, यह मेरी पहली सेक्स कहानी है. अगर मुझसे कोई गलती हुई हो तो मुझे माफ कर देना.

आपको हॉट गर्ल न्यू देसी सेक्स कहानी कैसी लगी प्लीज आप अपना प्यार देना और मुझे मेल करके जरूर बताना.
[email protected]

Check Also

पुताई वाले मजदूर से चुद गई मैं

मैं एक Xxx लड़की हूँ, गंदा सेक्स पसंद करती हूँ. एक दिन मेरे घर में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *