मेरी पाठिका की प्यार भरी चुदाई

न्यूड वर्जिन हॉट सेक्स का मजा मुझे मेरी कहनियों की एक प्रशंसिका ने दिया. उसने मेल करके मेरे साथ दोस्ती की और हमारी बात सेक्स तक पहुँच गयी. उसने मुझे कैसे मजा दिया?

दोस्तो,
मैं सनी फिर से हाज़िर हूँ आपके लिये एक नई कहानी लेकर जिसमें मैं अपनी एक मस्त पाठिका की प्यार भरी चुदाई करी।

मेरी पिछली कहानी
केमिस्ट्री वाली मैम की होटल रूम में चुदाई
पर आप सभी ने बहुत प्यार दिया। उसके लिये दिल से शुक्रिया।

मेरा नाम सनी है, मैं 24 साल का हूँ।
मैं रायपुर (छ. ग.) का रहने वाला हूँ।
दिखने में मैं ठीक ठाक ही हूँ, थोड़ा पतला दुबला टाइप का लड़का हूँ लेकिन मुझे चुदाई करना बहुत पसंद है।

यह न्यूड वर्जिन हॉट सेक्स कहानी की शुरूआत होती है मेरे पिछली कहानी से!
उस कहानी पर मुझे बहुत सारे मेल आये.

उनमें से एक मेल सोनम का भी था।
मैं हर किसी के मेल का रिप्लाई करता हूं तो मैंने सोनम के भी मेल का रिप्लाई किया।
आपको सोनम (पाठिका) के बारे में थोड़ा बता देता हूँ.

सोनम की उम्र 25 साल है, उसकी फ़िगर 34-28-36 करीब होगी।
उसके तने तने बूब्स और निकली हुई गांड उसको एक सेक्सी लड़की बनाते हैं.
पर सोनम थोड़ी शर्मीली किस्म की लड़की है।

अब आप मेरी और सोनम की मेल में जो बातें हुई, उनका आनंद लीजिए।

सोनम- मैंने आपकी सारी कहानी पढ़ी हैं, मुझे आपकी सारी कहानियां अच्छी लगी। लेकिन मुझे कुछ जानना था आपसे!
मैं- आपको मेरी कहानियां अच्छी लगी उसके लिये दिल से शुक्रिया। और आप मेरे से क्या जानना चाहती हैं?

सोनम- मुझे समझ नहीं आ रहा है कि आपसे कैसे पूछूँ?
मैं- आप जो चाहे पूछ सकती हैं, मैं आपको निराश नहीं करूँगा।

सोनम- आपने हर कहानी में लिखा है कि ‘मैंने चूत चाटी’ तो बिना चूत चाटे सेक्स नहीं कर सकते हैं क्या?

यह बात सुनकर मैं सोच में पड़ गया था कि कोई ऐसा भी पूछ सकता है.
यह कभी मैंने सोचा ही नहीं था।

फिर मैंने थोड़ा अपने आप को संभालते हुए जवाब दिया- हाँ, बिल्कुल बिना चूत चाटे भी सेक्स हो सकता है सोनम जी। लेकिन अगर आप सेक्स को अच्छे से एन्जॉय करके करना चाहे तो फोरप्ले करना जरूरी होता है इससे लड़का लड़की दोनों को आनन्द मिलता हैं।

इसके बाद हमारी बातें होती रहीं बहुत दिनों तक!

फिर मुझे सोनम ने बताया कि उसने आज तक सेक्स नहीं किया है. बस जब कभी मन करता है, तब उंगली से कभी कभी खुद को शान्त कर लेती है।

मैं मन ही मन सोचने लग गया कि काश सोनम की चुदाई करने का मौका मुझे मिले।

सोनम और मेरी बात अब रोज रोज होनी चालू हो गयी.
हम दोनों अक्सर सेक्स की ही ज्यादा बातें करते थे।

सोनम बस मुझे बोलती थी- आप मुझे अपनी चुदाई की कहानी सुनाओ.
और मैं उसको चुदाई की कहानी सुनाता और वो अपनी चूत में उंगली करती।

ऐसा करीब एक महीने तक चला.

मैं अब सोनम से मिलना चाहता था और उसको चोदने के लिये मेरे लण्ड पर भूत सवार था।

आखिर वो दिन आ ही गया जब सोनम ने मुझे मिलने के लिये कहा।
वो दिन था 30 दिसम्बर … शाम को मैं अपने रूम में था।

शाम के 7 बजे सोनम का कॉल आया.
उसने मुझे ‘नये साल का क्या प्लान है?’ पूछा.
तो मैंने कहा- कुछ खास नहीं है जी. बस रूम में ही रहना है कहीं जाने का कोई प्लान नहीं है।

सोनम ने कहा- अगर आपको बुरा ना लगे तो क्या नया साल मेरे साथ मनाना चाहेंगे?
यह सुनकर मेरा लण्ड तुरंत खड़ा हो गया।

मेरा सब्र सच में मुझे बहुत ही मीठा फल देने वाला था।

तो मैं बोला- मुझे नया साल आपके साथ मनाने में बहुत खुशी होगी।
सोनम ने कहा कि वो कल शाम को कॉल करेगी और खुद मुझे लेने आएगी।

जैसे ही सोनम ने कॉल रखा, मैंने अपने लण्ड को पकड़ा और कहा- तेरा इंतजार खत्म हुआ बेटा! अब तुझे सील पैक चूत चोदने को मिलेगी।

उस रात मैंने अपनी झांटों को साफ किया ताकि नय साल को कोई कसर न रहे।

जैसे कि सोनम ने कहा था कि मुझे खुद लेने आएगी।
31 दिसम्बर को शाम 5 बजे सोनम का कॉल आया- कहाँ आऊं आपको लेने?
तो मैंने उसको आपकी लोकेशन बताई और सोनम 10 मिनट में आ गयी।

सोनम को मैंने फ़ोटो में ही देखा था.
जब सोनम को सामने से देखा तो देखता ही रह गया।

उसने काले रंग की शर्ट और लाल रंग की लेगी और लाल रंग की चुन्नी पहनी थी।
उसे देख मैं तो पता नहीं कहाँ खो गया था और मेरा लण्ड खड़ा हो गया था।

फिर सोनम ने ‘हेलो कहाँ खो गए? नहीं चलना है क्या?’ करके चुटकी बजायी.
तो मैं उसके पीछे बैठ गया।

हम थोड़े देर घूमे फिर सोनम के रूम पहुँच गए।

सोनम का रूम बहुत अच्छा था.
उसने पहले ही कुछ गुब्बारों से और थोड़ी सी सजावट भी की थी.
रूम की ऐसी सजावट देखकर मैं बहुत खुश हुआ कि सोनम अपनी पहली चुदाई यादगार तरीके से करना चाहती है।

फिर सोनम कुछ बनाने किचन में चली गयी.
5 मिनट बाद मैं भी किचन में चला गया और सोनम को पीछे से गले लगा लिया और मस्ती करने लगा।

सोनम कहने लगी- थोड़ा सब्र करो यार!
मैं लेकिन मैं कहाँ मानने वाला था।

सोनम के पीछे लगे लगे मैं चुदाई करने वाले तरीके से धक्का दिये जा रहा था।
मैंने सोनम की चुन्नी को हटा दिया और उसके कमीज के ऊपर से ही उसके बूब्स दबाने लगा और गर्दन में किस करने लगा।

सोनम को ये सब बहुत अच्छा लग रहा था।
उसने गैस बंद की और मुड़ कर मुझे कसकर अपने गले से लगा लिया.

सोनम के ऐसा करने से मेरा लण्ड उसकी बूब्स के दबाव से बहुत शक्त हो गया।

गले लगाकर सोनम मेरी गर्दन पर और मैं सोनम की गर्दन पर किस किये जा रहे थे।
फिर सोनम ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये और वह ऐसे किस किये जा रही थी जैसे कि मुझे पूरा खा जाएगी.

मैंने भी सोनम के होंठों को निचोड़ दिया।
इसके साथ साथ मेरा हाथ सोनम के चूतड़ों पर लगातार चलता ही जा रहा था.
मैंने एक दो थप्पड़ भी लगाया उसके गांड में!

फिर सोनम को गोद में उठाकर रूम में लाकर बेड में लेटा दिया.
तब सोनम ने लाइट बन्द करने को कहा।
मैंने लाइट बन्द कर दी।

फिर मैं सोनम के ऊपर चढ़ गया और उसको किस करते करते उसके बूब्स को दबाने लगा.
सोनम पागलों की तरह मेरी पीठ पर नाखून चुभा रही थी।

हम दोनों बहुत गर्म हो गए थे।
मैं अपना एक हाथ सोनम से सलवार से होते हुए उसके बूब्स के तरफ ले गया और दबाने लगा।

सोनम पागलों की तरह करने लगी और मुझे नीचे करके मेरे ऊपर चढ़ गई और किस करने लगी।

उसने खुद ही अपनी कमीज निकल दी और अब सोनम ऊपर से बस काली ब्रा में ही थी।

सोनम का गोरा शरीर काले रंग की ब्रा में बहुत ही प्यारा लग रहा था।

मैंने सोनम को लेगी निकालने बोला.
लेगी सुनते ही सोनम ने तुरंत निकाल दी।

सोनम लेगी निकालते ही बेड में पेट के बल लेट गयी.
शायद सोनम शरमा रही थी।

मैंने देर ना करते हुए अपने कपड़े निकाल दिये और बस चड्डी में हो गया।

मैं सोनम के ऊपर लेट गया और सोनम के पूरी शरीर को किस करने लगा। मैं सोनम की गर्दन को किस करते करते जैसे जैसे नीचे आ रहा था, उससे सोनम और मचलने लगी।

किस करते करते मैं उसकी गांड तक पहुँचा ही था कि सोनम सीधी हो गयी और फिर से उसने मुझे बाहों में भर लिया।

जैसे ही मैं सोनम के ऊपर आया, मेरा लण्ड सोनम की चूत से टकराने लगा।

मैंने सोनम के एक बूब को मुँह में लिया और ऐसे पीने लगा जैसे कोई बच्चा दूध पीता हो।
सोनम मेरे बालों के साथ खेलने लगी.

फिर करीब 5 मिनट बाद सोनम ने मेरा मुँह हटाकर अपने दूसरे बूब पर मेरा मुँह रखा और मैं उसके साथ खेलने लगा और साथ ही साथ एक बूब को दबाने लगा।

थोड़ी देर बाद जैसे ही मैंने अपना हाथ सोनम की पेंटी में घुसाया, सोनम मचल गयी और मेरा हाथ अपनी चूत में दबाने लगी।

सोनम की पेंटी पूरी गीली हो चुकी थी.
शायद सोनम का एक बार पानी निकाल चुका था।

मैंने उसके बूब्स को छोड़ा और तुरंत सोनम की पेंटी निकाल दी।

सोनम अपनी आंख बंद किया हुई मेरी हरकतों का मजा ले रही थी।

मैंने जैसे ही उसकी चूत पर एक किस किया, सोनम ने मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत में दबा दिया।

क्या मस्त खुशबू थी सोनम की चूत की!
और क्या स्वाद था यार!
वो स्वाद मुझे मदहोश कर रहा था.
और मैं सोनम की चूत को चाटे जा रहा था।

5 मिनट में ही सोनम की चूत ने जवाब दे दिया और उसका पानी निकल गया.
मैंने पूरी चूत चाट कर साफ की.

फिर मैंने उसके ऊपर आकर किस किया और सोनम का हाथ पकड़ कर अपनी चड्डी में डाल दिया।

जैसे ही सोनम ने मेरा लण्ड पकड़ा, वो मेरी तरफ अजीब नजरों से देखने लगी।
उसकी आंखों में भूख नज़र आ रही थी मुझे!

मैं सीधा लेट गया और सोनम थोड़ा नीचे हो गयी।
मैंने अपनी चड्डी निकाल कर अपना लण्ड सोनम के हाथ में रख दिया.

सोनम मुझे देखने लगी.

मैंने उसको लण्ड चूसने का इशारा किया।

सोनम थोड़ा रुकी, फिर हिम्मत करके लण्ड मुँह में डालने लगी मेरा प्री कम लण्ड में लगा हुआ था।

जैसे ही सोनम ने एक बार मुँह में लण्ड लिया उसे पता नहीं क्या फील हुआ, उसने तुरंत बाहर निकाल दिया और अजीब अजीब मुँह बनाने लगी.
यह सब इसलिए क्योंकि अब से पहले उसने ऐसा कभी नहीं किया था।

मेरे बहुत कहने पर सोनम मेरे लण्ड को चूसने लगी.
अब उसको लण्ड चूसने में मजा आने लगा और मैं उसके सर को पकड़ कर लण्ड में दबाने लगा.

थोड़े देर बाद मैंने सोनम को कहा- मेरा निकलने वाला है हट जा!
लेकिन सोनम चूसती ही रही और मैं सोनम के मुँह में ही झड़ गया.
सोनम मेरा सारा वीर्य पी गयी.

फिर वह मेरे बगल में आकर मुझे पकड़कर लेट गयी और लण्ड के साथ खेलने लगी।

सोनम मेरे लण्ड को ऊपर नीचे कर रही थी और मैं सोनम की चूत को सहला रहा था।

फिर मेरा लण्ड सोनम के ऊपर नीचे करने से थोड़े देर में सख्त हो गया और सोनम की चूत भी गीली हो गयी।
मैंने ज्यादा समय खराब ना करते हुए सोनम को मिशनरी पोजीशन में आने को कहा।

जैसे ही सोनम पोजीशन में आई, मैं उसकी चूत पर लण्ड रगड़ने लगा और सोनम अपने आप को ऊपर नीचे करने लगी.
फिर चूत में लण्ड सेट करके धीरे धीरे दबाव बनाने लगा ताकि सोनम को ज्यादा दर्द सहन ना करना पड़े.

जैसे ही आधा लण्ड चूत में गया, सोनम ने मुझे अपने ऊपर खींच कर मुझे किस करने लगी।
इधर लण्ड धीरे धीरे करके सोनम की चूत में घुस गया।

जैसे ही पूरा लण्ड घुसा, सोनम के मुँह से आआआ आआह! निकला।

मैं लण्ड चूत में डाल कर सोनम को किस करने लगा ताकि सोनम थोड़ा सामान्य हो जाए और साथ देने लग जाये।

जैसे ही सोनम अपनी कमर को आगे पीछे करने लगी, मेरी पीठ में हाथ फिराने लगी, मैंने चूत में धक्के देने चालू कर दिये।
फिर मैंने सोनम को तेज तेज धक्के देने चालू किए.

पर सोनम के बोलने पर मैं बीच बीच में रुक जाता था।
5 मिनट धक्के देने के बाद मैंने सोनम को कहा- क्या तुम मेरे ऊपर आना चाहोगी?

सोनम ने तुरंत मुझे किस किया और मैं समझ गया कि सोनम अब खुद लण्ड के ऊपर बैठेगी।

मैं नीचे लेट गया और सोनम मेरे ऊपर आयी और लण्ड पकड़ कर अपनी चूत में सेट करके जोर जोर से ऊपर नीचे होने लगी।

थोड़ी ही देर में सोनम मेरे से चिपक गयी और चूत को लण्ड में रगड़ने लगी.
मैं समझ गया कि सोनम का पानी निकल गया।

फिर मैंने सोनम को कुतिया बनने बोला.
तो सोनम बेड के एक साइड आकर तुरंत कुतिया बन गयी.

मैंने नीचे खड़े होकर चूत में लण्ड सेट किया और सोनम को मस्त चोदने लगा.

15-20 धक्कों के बाद मुझे लगा कि मेरा निकलने वाला है तो मैंने सोनम को सीधा करके उसके मुँह में लण्ड दे दिया।

सोनम ने लण्ड को चूस चूस कर सारा वीर्य निकाल दिया और सारा पी गयी।

न्यूड वर्जिन हॉट सेक्स के बाद हम किस करके बेड में लेट गए और हमें नींद लग गयी.

12 बजे जब अलार्म बजा, तब मेरी नींद खुली और मैंने सोनम को उठाया.
और तब मैंने सोनम के साथ कैसी कैसी मस्ती मारी, यह कहानी मैं फिर कभी बताऊंगा।

दोस्तो, मेरी और मेरी पाठिका की प्यार भरी न्यूड वर्जिन हॉट सेक्स कहानी आपको कैसी लगी?
इसकी राय आप मुझे जरूर देना।
[email protected]

Check Also

पहला सेक्स सहेली के भाई के साथ

हॉट वर्जिन चूत की चुदाई का मजा मेरी सहेली का बड़ा भाई मुझे चोद कर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *