पड़ोस वाले भैया ने मेरी गांड मारी

यंग बॉय गे सेक्स कहानी में मैंने अपनी गांड की पहली चुदाई की घटना लिखी हिया. मेरे पड़ोस के एक भैया के पास मैं टीवी देखने जाता था. उन्होंने मुझे ब्लू फिल्म दिखाई और …

हाय दोस्तो, मेरा नाम विवेक है. मैं बहुत गोरा और स्मार्ट चिकना सा लौंडा हूँ. थोड़ा हेल्दी भी हूँ.

मैं ये यंग बॉय गे सेक्स कहानी मेरे साथ घटी एक सच्ची घटना को लेकर बता रहा हूँ.

मैं जब अपने घर पर टीवी देखता तो मॉम मुझे ज़्यादा टीवी नहीं देखने देती थीं.
तो मैं अपने पड़ोस में जाकर टीवी देखता था.

मेरे पड़ोस वाले भैया का नाम हरेन है. वो थोड़े मोटे हैं. उनकी उम्र ज्यादा हो गई थी मगर अभी तक शादी नहीं हुई थी.

वो देखने में भी ऐसे लगते थे, जैसे कोई गांव का गबरू पहलवान हो.
हां थोड़े मोटे थे मगर थुलथुल नहीं थे.

मुझे उनसे बात करने में काफी अच्छा लगता था.
भैया भी मुझे काफी पसंद करते थे.

वो जब मुझसे बात करते थे तो कभी मेरे गाल पर हाथ फेर देते थे, उस वक्त मुझे काफी सनसनी होती थी और ऐसा लगता था कि भैया की गोद में बैठ जाऊं.

भी मुझे कभी कभी प्यार से सहला देते और मेरी गांड पर हाथ फेर कर मुझसे कहते- विवू, तू बड़ा क्यूट है.

मुझे उस वक्त क्यूट का मतलब समझ नहीं आता था मगर उनका ये कहना मुझे बहुत अच्छा लगता था.

भैया के साथ मुझे सबसे ज्यादा अच्छा लगता था और उनके पास से उठ कर जाने का मन ही नहीं होता था.

रोज की तरह मैं एक दिन उनके घर टीवी देखने गया तो उनके घर वाले किसी शादी में गांव गए थे.
वो कमरा बंद करके टीवी देख रहे थे.

मैंने दरवाजा खटखटाया.
उन्होंने दरवाजा खोला और कहा- क्या काम है?
मैंने कहा- मुझे टीवी देखना है.

उन्होंने मुझसे कहा- ठीक है, अन्दर आ जा … पर अन्दर से दरवाजा बंद कर लेना. आज घर में कोई नहीं है.
मैं दरवाजा बंद करके अन्दर आया.

थोड़ी देर तक वो एक सेक्सी मूवी देखते रहे.
उस फिल्म में रोमांस के सीन चल रहे थे.

वो मुझे अपने करीब बिठा कर फिल्म देख रहे थे और अपने हाथ से मेरी गांड सहला रहे थे.

मुझे मजा आने लगा था. मेरे दिल में कुछ कुछ होने लगा था.

कुछ देर बाद उन्होंने मेरी ओर देखा और बोले- क्या देख रहे हो?
मैंने कहा- टी वी.

तो उन्होंने कहा- अबे, वो तो मुझे मालूम है. इसमें ये लड़का लड़की जो कर रहे हैं, वो बता. क्या तुझे पसंद आ रहा है?
मैंने कहा- हां.

उन्होंने बोला- किसी को बोलोगे नहीं, तो हम दोनों पॉर्न देखते हैं.
मैंने कभी नहीं देखा था तो हां कर दी.

उन्होंने कहा- तुम मेरे साथ बेड पर आ जाओ, यहां से अच्छा दिखेगा.
मैं उनके पास जाकर बैठ गया.

फिर उन्होंने टीवी पर एक ब्लू फिल्म लगा दी.
मस्त चुदाई की मूवी चलने लगी.

फिर उन्होंने एक गे फिल्म लगा दी.
मुझे ये फिल्म ज्यादा अच्छी लगने लगी थी.

भैया ने पूछा- ये वाली अच्छी लग रही है या पहले वाली अच्छी लग रही थी?
मैंने कहा- ये वाली!
वो समझ गए कि मुझे गे सेक्स पसंद आ रहा है.

भैया ने पूछा- इसमें क्या अच्छा लग रहा है?
मैंने कहा- इनके बड़े बड़े सु सु!
भैया हंस दिए और बोले- वो अब सुसु नहीं हैं. उन्हें लंड कहते हैं. सु सु तो जब तक कहते हैं, तब ये कम उम्र के होते हैं. अब ये उतने जवान हो गए हैं जितना कि तू.

थोड़ी देर तक गे पॉर्न देखते देखते उन्होंने कहा- इसमें इन लोगों का कितना बड़ा होता है. क्या तुम्हारा भी इतना बड़ा है?
मैंने कहा- नहीं.

उन्होंने कहा- अपना दिखा.
मैंने मना कर दिया. मुझे शर्म आने लगी.

तब वो बोले- चलो मैं भी अपना दिखाता हूँ.
उन्होंने अपना लंड निकाला और मैं हैरान रह गया.
मैंने अभी तक सामने से कभी भी इतना बड़ा लंड नहीं देखा था.
भैया का लंड 6 इंच लम्बा व 3 इंच मोटा था.

वो बोले- अब तू दिखा.
तब मैंने अंडरवियर नहीं पहनी थी, सिर्फ़ छोटी सी शॉर्ट पहनी थी.
मैंने लंड निकाला.

उन्होंने कहा कि ओए तेरा तो बहुत छोटा सा है. यदि इसको बड़ा नहीं करोगे तो तेरी शादी नहीं होगी. तू अपनी बीवी से सेक्स कैसे करेगा.
मैंने कहा- कैसे बड़ा होगा?

उन्होंने कहा- देखो, अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ो और आगे पीछे करो.
मैंने भैया का लंड पकड़ा और आगे पीछे किया.
भैया का लंड एकदम लोहे जैसा सख्त हो गया.

फिर थोड़ी देर के बाद भैया ने मुझसे कहा- लाओ मैं तुम्हारा बड़ा करता हूँ.
भैया ने मेरा लंड पकड़ कर हिलाया, पर तब मुझे कुछ ज्यादा सुरसुरी नहीं हुई थी.

उन्होंने मुझसे कहा- तुम्हारा तो बड़ा ही नहीं हो रहा है. देखो अगर तुमको अपने लंड को बड़ा करना है तो इसको मुँह में ले लो.
मैंने कहा- मैं कैसे ले पाऊंगा?

भैया ने कहा कि एक काम करते हैं. तुम मेरा मुँह में ले लो, मैं तुम्हारा ले लेता हूँ उससे मेरा और तुम्हारा बड़ा हो जाएगा.

मैंने मैंने उत्सुकता से हां कर दी.
तो भैया ने 69 की पोजीशन बना ली.

भैया का लंड बहुत बड़ा था.
मैंने जब उनका लंड मुँह में लिया तो उनका टोपा ही मेरे मुँह के अन्दर जा पा रहा था.
फिर भी मैंने कोशिश की और किसी तरह से उनका मूसल लंड चाटने लगा.

वो मेरी लुल्ली को चूस रहे थे.

कोई 5 मिनट के बाद मैंने उनसे कहा- आपके इसके अन्दर से कुछ चिकना चिकना सा निकल रहा है.
उन्होंने अपना लंड मेरे मुँह से बाहर निकाल दिया.

तब भी मेरा लंड बड़ा नहीं हो रहा था.
उन्होंने कहा- तुम्हारा तो चूसने से भी बड़ा नहीं हुआ बस अब एक आखिरी तरीका है.
मैंने कहा- वो क्या है?

उन्होंने कहा कि अगर तुम मुझे अपने लंड को तुम्हारे पीछे वाले छेद में डालने दोगे, तो मेरे लंड जितना तुम्हारा लंड हो जाएगा.
मैंने मना कर दिया.

मैं उनके पास से उठ कर जाने लगा.
उन्होंने मुझे रोकते हुए कहा- देखो अगर तुम मुझे नहीं डालने दोगे, तो मैं ये बात सबको बोल दूँगा कि तुमने मेरे सामने अपना शॉर्ट्स उतारा था और तुम्हारा लंड छोटा सा है. फिर तुम बदनाम हो जाओगे और तुम्हारी शादी नहीं होगी.

मैंने घबरा कर कहा- आप ये सब किसी को मत बताना. आप जो बोलोगे, मैं वो करूँगा.
उन्होंने कहा- ठीक है, तुम अपने सारे कपड़े उतार दो.
मैंने अपने कपड़े उतार दिए.

उन्होंने कहा- औंधे होकर बेड पर झुक जाओ.
मैं डर गया मगर औंधा हो गया.

वो मेरी गांड पर हाथ घुमाने लगे और कुछ कुछ गंदा सा बोलने लगे- साले तेरी गांड तो लड़कियों जैसी चिकनी है, तेरा बदन तो सही में लड़की जैसा नर्म है.
ये सब बोल कर वो मेरी गांड पर हाथ फेरने लगे और मेरी गांड के छेद में उंगली डालने लगे.

मुझे उनकी उंगली से जलन हो रही थी.
मैंने उनसे कहा तो उन्होंने कहा- रुक, मैं तेल लगाता हूँ.

फिर उन्होंने तेल लेकर मेरी गांड में लगाया और अपने तनतनाते हुए लंड पर भी लगाया.
अब उन्होंने फिर से मेरी गांड में उंगली डाली.

इस बार मुझे जलन नहीं हुई बल्कि उनकी उंगली से गांड में गुदगुदी होने लगी.
मैंने मजा लेना शुरू कर दिया.

भैया ने पूछा- अच्छा लगा?
मैंने कहा- हां भैया, बड़ा अच्छा लग रहा है … करते रहो.

भैया बोले- और मजा लेना है?
मैंने कहा- हां भैया.

भैया बोले- अब किसी मोटी चीज से करवाओगे तब ज्यादा मजा आएगा.
मैंने कहा- तो मोटी चीज से करो न भैया!

भैया बोले- ठीक है मैं अपने लंड से करता हूँ.
मैं कुछ नहीं बोला.

मुझे बेहद लज्जत मिल रही थी. बस ऐसा लग रहा था कि भैया मेरी गांड में उंगली करते ही रहें.
मेरी आंखें बंद हो गई थीं.

उन्होंने मुझसे कहा- आज हाथ लगा है तू … कितने दिन से तेरी गांड मारने के चक्कर में लंड हिला रहा था साले. तेरे शरीर पर तो एक भी बाल नहीं है. आज तो तेरी गांड मारने में मज़ा आ जाएगा.

ऐसा बोलकर उन्होंने कहा- चल अब तू अपने दोनों हाथों से अपनी गांड चौड़ी कर ले. मैं लंड पेल रहा हूँ … सहन करना थोड़ा सा दर्द होगा.

मैं अपनी गांड अपने हाथों से फैला कर बेड पर झुका हुआ था.
उन्होंने अपने लंड का टोपा मेरी गांड के छेद में जैसे ही छुलाया, मुझे कुछ ठंडा सा लगा.

उन्होंने थोड़ी देर तक यूं ही मेरी गांड के छेद पर ही अपना टोपा रगड़ा.
मुझे अच्छा लग रहा था.
मैंने अपने हाथ से अपनी गांड पूरी तरह से फैला कर चौड़ी कर दी.

फिर मैंने भैया से कहा- अब और ज्यादा अन्दर करो. आप तो बोल रहे थे कि दर्द होगा, मगर मुझे तो मज़ा आ रहा है.
इतना सुनकर भैया जोश में आ गए और उन्होंने एक झटका दे मारा.

उनके लंड का टोपा मेरी गोरी गांड फाड़ कर अन्दर चला गया और मैं जोर से चिल्लाने लगा.
उन्होंने जल्दी से मेरा मुँह दबा दिया और बोला- बहुत मज़ा आ रहा था ना भोसड़ी के … आह ले रांड आज तो मैं तेरी गांड फाड़ ही दूँगा.

मेरी आंखों से आंसू निकल रहे थे.
तभी भैया ने एक तगड़ा झटका मारा और अपना पूरा लंड मेरी गांड के अन्दर पेल दिया.

मुझे लगा कि मेरी गांड बीच में से फट गई है और अलग अलग दो टुकड़ों में विभाजित हो गई है.
पर मैं कुछ नहीं कर पा रहा था.

कुछ पल रुक कर भैया ने अपने लंड को अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.
वो जोर जोर से झटके मार मार कर मेरी गांड फाड़ने लगे थे.

कुछ देर बाद मुझे दर्द खत्म होता सा महसूस हुआ और मजा आने लगा.
भैया ने करीब दस मिनट की गांड चुदाई के बाद मेरे कंधे पकड़ लिए और कहा- तैयार हो ज़ा, आज से तू मेरी बीवी बन जाएगी. मैं तुझे अब रोज चोदूंगा.

मैंने भी हूँ हूँ कह कर उनके लंड का अहसास करना शुरू कर दिया था.

अब भैया ने मेरे कंधे पकड़ कर जोर जोर से झटके लगाना चालू कर दिए.
करीब दस बारह झटकों के बाद मुझे अन्दर से कुछ महसूस हुआ और वो हांफ़ते हुए मेरे ऊपर लेट गए.

मेरी गांड में कुछ कुछ गर्म सा लगने लगा, जैसे कुछ गर्म पदार्थ सा आने लगा हो.

थोड़ी देर बाद वो मेरे ऊपर से उठ कर बोले- चल अब अपने कपड़े पहन ले. आज से तू मेरी बीवी है, रोज आ जाना चुदवाने!

मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था कि ये क्या हुआ.
तभी मेरी गांड से बहुत सारा सफेद पानी निकलने लगा था.

मैंने एक कपड़े से अपनी गांड पौंछ ली और कपड़े पहन लिए.

मैं जाने लगा तो वो दरवाजा खोलने आए और उन्होंने मुझे होंठों पर किस करके कहा- आज मन की मुराद पूरी हो गई है. ये बात किसी से नहीं कहना.
मैं जाने लगा.

दोस्तो, मैं 3 दिन तक ठीक से चल नहीं पाया था.
अब वो मुझे रोज बुलाते हैं.

उनके दोस्त और उन्होंने साथ में मिलकर मुझे चोदा था.
वो घटना मैं अगले भाग में बताऊंगा.
यंग बॉय गे सेक्स कहानी आपको कैसी लगी? मुझे बताएं.
[email protected]

Check Also

चार लंड और मेरी अकेली गांड

गे सेक्स ग्रुप स्टोरी में पढ़ें कि मैं लड़कियों जैसा हूँ. मुझे ब्रा पैंटी पहनने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *