पड़ोस वाली सेक्सी चाची को चोदा

सेक्सी चाची की चुदाई का मजा मैंने लिया पोर्न मूवी दिखाकर गर्म करके. मैंने उसके फोन में ब्लू फिल्म डाउनलोड कर दी थी. इस बारे में बात हुई तो हम खुली बातें करने लगे.

दोस्तो,
मेरा नाम रॉकी है और मैं गुड़गांव का रहने वाला हूं।
यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है। यह सेक्सी कहानी मेरी और मेरे पड़ोस की सेक्सी चाची की है जो सच्ची घटना पर आधारित है।

चाची का नाम कोमल है और उम्र 32 साल है।

यह बात आज से 4 साल पहले की है।

जब मेरी नज़र पड़ोस की चाची पर पड़ी थी तब मैं 12वीं क्लास में था।
तब से ही मैं किसी तरह सेक्सी चाची की चुदाई का मजा लेना चाहता था।

सैक्सी चाची का फिगर 36-26-35 का होगा और उसकी गांड को अगर कोई एक बार देख ले तो बिना लंड हिलाये नहीं रह सकता।

वो दिखने में बिल्कुल गोरी है और किसी अप्सरा से कम नहीं लगती है।
उसके बूब्स काफ़ी बाहर को निकले हुए हैं।

उसकी शादी को हुए 6 साल हो चुके हैं, पर अब भी वो किसी जवान लड़की से कम नहीं।

उसके पति काम से बाहर रहते थे और कभी कभी घर आते थे।

मेरा उनके घर आना जाना लगा रहता था तो मैं उसको छिपकर नहाती देखता.
और मैं अपने लंड को बाथरूम में जाकर हिला लेता।

इस तरह मैंने 2 महीने मुठ मारकर निकाल दिए।

एक दिन जब मैं उनके घर था तो उसने मेरा फोन किसी काम से मुझसे ले लिया।

चाची फ़ोन लेने के बाद बोली कि वो बाद में भिजवा देगी।
मैं फ़ोन देकर घर आ गया और आकर सेक्सी चाची के नाम की मुठ मार ली।

जब मैंने अपना फ़ोन वापस लिया तो मैंने चेक किया.
तो मैं सोच में पड़ गया क्योंकि चाची ने पोर्न देखी थी और वो हिस्ट्री डिलीट करना भूल गई।

तब मैंने मन बना लिया कि अब तो मैं चाची की चूत को चोदकर ही दम लूंगा।
फिर मैंने चाची को चोदने की योजना बनाई।

अगले दिन मैं चाची का फ़ोन उससे ले आया और उसके फ़ोन में पोर्न डाउनलोड कर दी।
मैंने कुछ समय सोचा अगर कोई बात हो गई तो ना सेक्सी चाची चुद पाएगी और घर तक कभी बात ना आ जाए।

उसके बाद मैं उसके घर गया तो देखा कि चाची कपड़े धो रही थी और उसके गोरे बूब्स का ऊपरी भाग साफ हिलता हुआ दिखाई दे रहा था.
उसकी मोटी गांड का शेप भी बहुत सैक्सी लग रहा था।

उसको देखकर मेरा लौड़ा उफ़ान पर आ गया और पैन्ट को चीरने की कोशिश करने लगा।

फिर मैंने किसी तरह उनका फोन वापस कर दिया और उसकी तरफ से प्रक्रिया का इंतजार करने लगा।
पर उसने फ़ोन को साइड में रख दिया।

मैं वापस घर आ गया।

फिर शाम को 5 बजे सेक्सी चाची का मुझे कॉल आया.
मैंने कॉल नहीं उठाई क्योंकि मैं डर में था।
मैं सोच रहा था कि वो गुस्सा नहीं हो गई हो।
तो मैं उसके घर भी नहीं गया.

उसके आधे घंटे बाद चाची खुद मेरे घर आ गई तो मैं उससे नजर चुराने लगा।
फिर उसने बताया कि उसको मार्केट जाना है तो वो मुझे बाइक चलाने के लिए कॉल कर रही थी।

जैसे ही मुझे यह बात पता चली तो मेरे मन में चाची को चोदने के सपने और ज्यादा दौड़ने लगे।

मैं उसके घर गया तो चाची बहुत ज्यादा गजब माल लग रही थी।
उसने काला ब्लाउज और काली साड़ी पहन रखी थी.

उसकी गोरी कमर बिल्कुल चिकनी लग रही थी.
मेरा मन कर रहा था कि साली को वहीं चोद दूँ.

पर मैंने खुद पर किसी तरह काबू पाया।

हम मार्केट के लिए निकल गए. चाची के बूब्स बार – बार मेरी पीठ पर गड़ रहे थे; वे बहुत ज्यादा गर्म थे.
मेरे लौड़े का बुरा हाल था।

जब हम वापस घर आ रहे थे तो चाची ने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?
तो मैंने मना कर दिया।

फिर मैं बोला- आपकी जैसी कोई मिलती ही नहीं जो इतनी सुंदर हो!
तो चाची मुझसे थोड़ा चिपक गई.
मैं समझ गया कि काम बन रहा है।

घर आकर चाची ने मुझसे उस पोर्न के बारे में पूछा- तुमने ये नंगी वीडियो क्यों डाउनलोड की?
और वह थोड़ी सी नाराज लग रही थी।

फिर मैंने किसी तरह बोल दिया कि जब आपने मेरा फ़ोन लिया था तब आपने भी मेरे फोन में पोर्न देखी थी।
तो चाची थोड़ा सा शर्मिंदा हुई और कुछ नहीं बोली।

मैं बार बार पूछता रहा पर चाची कुछ नहीं बोली।

फिर मेरे ज्यादा पूछने पर उसने बताया कि उसका पति बहुत दिनों बाद घर आता है और उसकी सेक्स लाइफ अच्छी नहीं चल रही है।
चाची खुद को अपनी उंगली से सन्तुष्ट करती थी।

ये सब बताते समय चाची रोने लगी तो मैंने उनको अपने गले लगा लिया और चुप करवाने लगा।
जैसे ही मैंने चाची को गले लगाया, उनके बूब्स मेरे सीने में धंसने लगे और मेरा लौड़ा एकदम टाइट हो गया।

कुछ 5 मिनट बाद जब चाची चुप हो गई तो हम दोनों एक दूसरे की आंखों में देखने लगे और पता ही नहीं चला कब एक दूसरे के लब आपस में मिल गए।
10 मिनट तक हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे और बीच बीच में मैं अपनी जीभ भी चाची के मुंह में दे देता।

फिर मैंने चाची के बालों को पकड़ा और फिर से किस करना शुरू कर दिया.
इस बार चाची ने मुझे टाइट से पकड़ लिया और साथ देने लगी।

20 मिनट और किस करने के बाद मैं चाची की गर्दन पे किस करने लगा और उसको बेड पर लिटा दिया।
फिर मैं धीरे धीरे नीचे की ओर बढ़ने लगा।

चाची की मादक आहों से पूरा रूम गूंज उठा।

जब मैं चाची को गर्दन पर किस कर रहा था तो चाची बोल रही थी- और जोर से काटो आह … सश्स … अम्म … रॉकी और जोर से!

फिर मैंने चाची को बेड पर लिटा दिया और उनका ब्लाउज निकाल दिया।
चाची गुलाबी रंग की ब्रा में थी और बहुत सैक्सी लग रही थी।

फिर मैंने ब्रा के ऊपर से ही चाची को किस करना शुरू कर दिया और वो मेरे सर को अपने बूब्स पर दबा रही थी और सेक्सी आवाज़ निकाल रही थी।
उसके बाद धीरे धीरे मैंने चाची को ब्रा और पेंटी में कर दिया।

चाची ब्रा और पेंटी में किसी मॉडल से कम नहीं लग रही थी; उसकी गांड भी बहुत गोरी और चिकनी लग रही थी।

फिर धीरे से मैंने उसकी पेंटी में हाथ दिया और उसकी चिकनी गुलाबी चूत पर रख दिया।
जैसे ही मैंने उसकी चूत पर हाथ रखा, चाची मचल उठी और ज्यादा मादक आवाजें निकालने लगी।

चाची की चूत क्लीन शेव थी और थोड़ा पानी भी निकल रहा था।
उसके बाद मैंने ब्रा और पेंटी को निकाल दिया।

अब चाची मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी और उसका गोरा शरीर चमक रहा था।

फिर मैंने अपना मुंह चाची की गुलाबी चूत पर रख दिया और अपनी जीभ से दाने को चाटने लगा।
चाची अपनी आवाज़ को रोक नहीं पा रही थी और जोर जोर से बोल रही थी- जोर से चाटो … और जोर से … आ आ … मम … हाय!

करीब 5 मिनट बाद चाची ने पानी छोड़ दिया और मैं सारा चट कर गया।

उसके बाद चाची ने मेरा लौड़ा पकड़ा और बोली- तेरा तो मेरे पति से भी बड़ा है।

मेरा लौड़ा 6.5 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है।
चाची समझ गई थी कि आज उसकी चूत का भोसड़ा बनने वाला है।

उसके बाद चाची ने मेरा लौड़ा मुंह में लिया और किसी लोलीपॉप की तरह चूसने लगी।
चाची किसी पोर्नस्टार की तरह मेरा लौड़ा चूस रही थी और मेरा लौड़ा भी चाची के गले तक उतर रहा था।

करीब 10 मिनट बाद मैंने अपना माल चाची के मुंह में निकाल दिया; चाची सारा माल पी गई।

5 मिनट बाद चाची फिर से लौड़े की मुठ मारने लगी और वो फिर से खड़ा हो गया।

उसके बाद मैंने चाची को नीचे लिटाया और अपना लौड़ा चाची की गुलाबी चूत पर सेट करने लगा।
फिर मैंने एक झटका मारा तो लौड़े का सुपारा अन्दर की तरफ जाने लगा.

चाची की चीख निकल गई और वह लौड़ा निकालने की बोलने लगी.
पर मैंने उसको अपने हाथ से पकड़ा हुआ था।

मैं थोड़ी देर रुका और फिर से एक जोरदार धक्का लगाया.
इस बार लौड़ा पूरा अन्दर तक चला गया और एक तेज़ चीख के साथ चाची के आंसू निकल गए।
चाची मेरे नीचे पड़ी किसी तरह निकलने की कोशिश कर रही थी पर मैंने उन्हें नहीं निकलने दिया।

2 मिनट बाद मैंने तेज धक्का देने शुरू कर दिए और लंड को चूत में पेलने लगा।

थोड़ी देर बाद चाची को भी चुदाई का मजा आने लगा और बोलने लगी- चोद साले … फ़ाड़ दे … भोसड़ा बना दे … आज बहुत दिन बाद लौड़ा मिला है।

करीब 10 मिनट बाद चाची ने पानी छोड़ दिया और फच फच की आवाज से रूम गूंज उठा।
उसके बाद मैंने चाची को कुतिया बनाया और पीछे से लौड़ा पेल दिया।

फिर कुछ मिनट बाद मैं भी चाची की चूत में ही झड़ गया।

उसके बाद हम दोनों लेट कर बात करने लगे.

आधे घंटे बाद मेरा लंड फिर से तैयार हो गया.

अब मैंने चाची की गांड पर तेल लगाया और अपना सुपारा सेट किया।
फिर धीरे धीरे दबाव डाल कर मैं पूरा लौड़ा चाची की गांड में घुसा दिया।

चाची की आंखों से आंसू निकल गए और मुझे लौड़े को निकाल लेने को बोलने लगी।

मैंने देखा कि चाची की गांड से खून निकलने लगा था.
पर मैं रुका नहीं, धीरे धीरे लौड़ा पेलता रहा।

कुछ समय बाद चाची खुद गांड हिलाकर लौड़ा लेने लगी।

करीब 10 मिनट बाद मैं और चाची दोनों एक साथ झड़ गए और मैंने उसकी गांड में ही पानी निकाल दिया।

उसके बाद हम दोनों नहाए और मैं अपने घर चला गया।

अब जब भी मौका मिलता है, मैं चाची की चुदाई कर देता हूं।

तो दोस्तो, सेक्सी चाची की चुदाई का मजा मैंने इस तरह से लिया.

मुझे मेल करके जरूर बताएं कि कैसी लगी आपको मेरी सेक्स स्टोरी।
[email protected]

Check Also

पड़ोसन आंटी के साथ सेक्स का मजा

हाय फ्रेंड्स, मैं मोहित मेरी पड़ोसन आंटी के साथ सेक्स की मेरे जीवन की सच्ची …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *