चूत चुदाई का बहुत शौक है मुझे

दोस्तो, इसमें कोई शक नहीं कि चूत चुदाई कहानी की बेस्ट साईट अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरी है. मैं इसे कई साल से पढ़ रही हूँ.
आज मैंने भी अपनी चूत चुदाई स्टोरी अन्तर्वासना पर भेजने का निश्चय किया है.

मेरा नाम सविता है, मेरा फिगर 36-24-36 है, शादी से पहले भी मेरे बॉयफ्रेंड थे तो मुझे चूत चुदाई का अच्छा अनुभव भी था और बहुत शौक भी था चूत चुदाई का… समझ लीजिये जैसे किरतु की सविता भाभी को चूत चुदाई का शौक है, वैसे ही मुझे भी! लेकिन शादी के बाद मैंने अपना चुदाई का शौक दबा लिया था.
पर मेरे पति हफ्ते में 3-4 दिन घर से बाहर रहते हैं तो मैं पूरी तरह से सेक्स एन्जॉय नहीं कर पाती थी.

शादी के 2 साल बाद मेरे बच्चा हो गया, इस कारण मेरा वजन बढ़ गया था तो मैंने पति से परमिशन लेकर एक जिम ज्वाइन करने की सोची और पहले दिन बात कर के आई.

अगले दिन मैं सलवार सूट में वहाँ चली गई तो वहाँ के इंस्ट्रक्टर साहिल ने मुझे कहा कि यहाँ ऐसे कपड़े नहीं पहने जाते, जिम के कपड़े पहन कर आना… या आप चाहो तो यहाँ से भी ले सकती हो कपड़े! मैंने कहा- बाहर से कहा लूँगी, आप ही दे दीजिये!
वो मुझे स्टोर में ले गया और एक टाइट ड्रेस देकर बोला- इसे पहन कर आओ और बताओ फिट है क्या?
मैं चेंज करके आई तो मैंने कहा- थोड़ी टाइट लग रही है!
वो मेरे पास आया और मेरे बदन पर कई जगह हाथ लगा कर बोला- यह इतनी भी टाइट नहीं है.

फिर दूसरी ड्रेस दी, बोले- ये चेक करो!
मैंने कहा- ठीक है!
मैं दूसरी ड्रेस पहन कर आई तो बोला- यह ठीक है!
और मैंने जिम शुरू कर दी.

शुरू शुरू में उसने जिम करवाई, नार्मल चीजें करवाता पर कई बार मुझे बताने के बहाने मेरे चूतड़ों को सहला देता, कई बार मेरे पेट पर और बूब्स को सहला देता.

काफी दिन ऐसे ही चलता रहा.

एक दिन जब मैं उसकी हेल्प से जिम कर रही थी तो वो पीछे आकर मेरे खड़ा हो गया और करवाने लगा. तभी उसने मेरे बूब्स के पास हाथ रखा, गर्दन के पास आकर मेरी गर्दन पर किस कर लिया.
उसकी गर्म सांसें मुझे बहुत अच्छी लग रही थी.

जाते टाइम उसने मुझे बोला- आपसे एक बात बोलूं? आप बुरा मत मानियेगा.
मैंने कहा- बोलो?
उसने मुझे डिनर के लिए आमंत्रित किया.
मैंने कहा- इसमें बुरा मानने की क्या बात… हम फ्रेंड्स है और वैसे भी मेरे पति नहीं हैं, तो बाहर खाना खा सकती हूँ!

रात को 9 बजे वो मुझे मेरे घर लेने आया.
मैंने शार्ट स्कर्ट और बैकलेस टॉप पहना था.

रेस्टोरेंट में जाकर खाना खाया हमने… वो खाते टाइम कभी मेरे हाथ छूता, मेरी जांघें सहला देता… मुझे अच्छा लग रहा था और उसकी पैंट बता रही थी कि उसे कैसा लग रहा है.
घर आकर मैंने उसे कॉफी ऑफर की.

आया बच्चे को सुला चुकी थी तो मैंने उसे जाने का बोला.

उसके जाते ही उसने मुझे बाहों में भर लिया और मेरी गर्दन पर किस करने लगा, मुझे दीवार से लगा कर मेरे होंठ चूमने लगा.
मैंने उसे बहुत मना किया पर वो नहीं माना और मुझे किस करने लगा.
मैं मदहोश हो गई थी.

वो मेरी स्कर्ट में हाथ डाल कर मेरी चिकनी जांघें सहला रहा था.

फिर मुझे उठा कर मेरे बैडरूम में ले गया. मेरा भी मन था कि साहिल मेरी जम कर चुदाई करे पर मैं उसे फील नहीं होने देना चाहती थी कि मैं भी ऐसा चाहती हूँ.

उसने मुझे बेड पैर लिटा दिया और मेरी चुची मसलने लगा, किस करते हुए मेरे निप्पल मसल रहा था.

अब उसने मेरा टॉप उतार दिया, उसने और मेरे हाथ एक दुपट्टे से पीछे बेड पर बांध दिए, फिर मेरे ऊपर आकर मेरे दोनों बूब्स को मसलने चूसने लगा था.
जब मेरी पहली बार चुदाई हुई थी उस समय मुझे ऐसा अहसास हुआ था!
वो मेरे बूब्स का पूरा अच्छी तरह निचोड़ कर चूस रहा था.

थोड़ी देर बाद वो मेरी स्कर्ट के अंदर मेरे जांघों को और चूत को चाटने लगा. मुझे बड़ा मजा आ रहा था.

मैंने कहा- साहिल, मेरे स्कर्ट ख़राब हो जाएगी ऐसे तो!

साहिल मुस्कुराने लगा और मेरी स्कर्ट को धीरे धीरे उतारने लगा जैसे जैसे मेरी स्कर्ट उतर रही थी, मैं उसका साथ दे रही थी स्कर्ट उतारने में अपने चूतड़ उठा कर!
साहिल बोला- तुम भी नंगी होना चाह रही थी.
मैंने कहा- जब तुमने ऊपर से मुझे नंगी कर दिया है तो अधूरा काम कर के तो जाओगे नहीं… और मैं भी गर्म हूँ!

उसने मुझे पूरी नंगी कर दिया और खड़े होकर पहले मेरे नंगे शरीर को देखा और फिर मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया.
मैं भी जोर जोर से कह रही थी- अच्छे से चूसो उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहुत अच्छा लग रहा है!
मैंने उसका मुँह अपनी चूत पर दबा लिया.

फिर मैंने कहा- करो… अंदर डाल कर मेरी प्यास बुझा दो!
उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगाया, धक्का दिया और पूरा लंड मेरी चूत में चला गया एक बार में!
मेरी जान निकल गई क्योंकि उसका लंड बहुत मोटा और लंबा था. मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे 18 साल की उम्र में मेरे पहले बॉयफ्रेंड ने चोदा था, वैसी फीलिंग आ रही थी.
यह चूत चुदाई स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

वो मेरी चुची पकड़ कर मुझे चोद रहा था और साथ में किस कर रहा था.
मेरा पानी निकल गया था पर उसका नहीं…
फिर वो अपने लंड को मेरी चुची के बीच में रख के मेरी चुची चुदाई करने लगा.
थोड़ी देर बाद वापिस चूत में चोदने लगा.

कुछ देर बाद हम दोनों का पानी साथ निकल गया, उसने अपना पानी मेरी चुची पर छोड़ दिया और फिर मेरे हाथ खोले.

मैंने अपनी चुची को उसी दुपट्टे से साफ किया और अचानक उसके मुरझाये लंड को मुँह में ले लिया. मुझे लंड चूसना बहुत पसंद है या यों कहें कि लंड मेरी कमजोरी है, देखते ही चूसने का मन करता है.
मैं उसका मुरझाया हुआ लंड मुँह में लेकर चूस रही थी, वो मेरे सर को सहला रहा था और बालों में हाथ फेर रहा था.
मुझे खूब मजा आ रहा था.

थोड़ी देर बाद उसका लंड खड़ा होना शुरू हो गया, साहिल जोर जोर से मेरे सर को धक्का देकर गले तक लंड मुँह में धकेल रहा था.

कुछ देर बाद हम 69 में आकर एक दूसरे की चूत और लंड चूसने लगे. मैंने उसके बॉल्स चूसने शुरू कर दिए… बड़ा मजा आ रहा था.

थोड़ी देर बाद मैं बहुत ज्यादा गर्म हो गई उअर खुद ही साहिल के लंड पर बैठ गई, साहिल ने लंड सीधा पकड़ा और मैं धीरे धीरे उस पर बैठ गई, उसका पूरा लंड मेरी चूत में चला गया और मैं उस पर कूदने लगी, अपनी चूत चुदाई करवाने लगी.
धीरे धीरे उसने भी नीचे से धक्के लगाना शुरू कर दिए, उसने मेरे निप्पल पकड़ लिये तो जब मैं उछलती तो वो पूरे खिंच जाते थे तो दर्द भी होता, मजा भी आता!

उछलते उछलते जब मैं थक गई तो लंड पर बैठ कर चूत रगड़ने लगी. तब उसने मुझे नीचे लिटाया और खुद ऊपर आकर मुझे चोदने लगा और मेरी चुची चूसने लगा.
मैंने उसको टांगों से जकड़ लिया… वो तेजी से मुझे चोद रहा था.

थोड़ी देर बाद मुझे उल्टा लिटा कर पीछे से मेरी चूत में लंड डाल कर चोदने लगा और बूब्स मसलने लगा, हाथ नीचे ले जा कर किस करने लगा.

काफी देर ऐसे चोदने के बाद उसने मुझे वापिस सीधा किया और फिर से चोदने लगा. थोड़ी देर बाद हम दोनों का पानी साथ निकल गया और वो मेरे बगल मैं आकर लेट गया.
मैं उसके सीने पर सर रख कर लेट गई… मैं बहुत खुश थी और वो भी!

मैं उसका बदन अपने हाथ से सहला रही थी. हम दोनों ऐसे ही सो गए.

मैं जब दुबारा उठी तो साहिल वहाँ नहीं था, वो बाथरूम में था, वो आया तो उसने टॉवल बांध रखा था.
हम दोनों एक दूसरे को देख कर मुस्कुराये और वो मेरी बगल में आकर लेट गया और मुझे किस किया.

साहिल ने कहा- तुम बहुत सेक्सी हो!
मैंने कहा- थैंक यू! मैं बहुत दिन से प्यासी थी! क्या तुम और चोदना चाहते हो मुझे?
साहिल मुस्कुराने लगा और बोला- सच में तुम चूत चुदाई की बहुत प्यासी हो!

उस रात हमने 2 बार और सेक्स किया.

जब मैं सुबह उठी तो साहिल ने चाय बनाई और मैंने फ्रेश होकर नाइटी पहन ली.
हमने साथ नाश्ता किया.

साहिल ने पूछा- जिम चलोगी?
मैंने कहा- यहीं कसरत कर लो मेरे ऊपर!

तो वो मुझे फिर बैडरूम में ले गया और नंगी कर के फिर से चोद दिया.

अब जब भी मेरे पति नहीं होते, वो मेरी चूत चुदाई करता है सारी सारी रात…

आपको मेरी चूत चुदाई की सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे जरूर बताइये!
[email protected] [email protected]

Check Also

एयर हॉस्टेस को अपनी होस्ट बनाया

नमस्ते दोस्तो.. वैसे तो मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, पर आज मैं भी आप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *