कजन सिस्टर सेक्स स्टोरी मामा की बेटी की चूत चुदाई

यह सिस्टर सेक्स स्टोरी है मेरे मामा की बेटी के साथ मेरे सेक्स की… मेरे मामा के घर में सिर्फ़ मामा-मामी, उनके बच्चे और नाना-नानी रहते हैं। मैं और मेरे मामा की लड़की जूही जैन बचपन में छोटे छोटे खेल खेलते थे.. लेकिन मुझे मालूम नहीं था कि बड़े होकर हम बहुत बड़े गेम्स भी खेलेंगे। वो बहुत आकर्षक है.. उसके होंठ तो उफफ्फ़ जैसे स्ट्रॉबेरी हों।

हुआ ये था कि मैं अंकित जैन मामा के घर गया था और उधर वो भी अपने हॉस्टल से घर आई हुई थी। मामा का घर छोटा है और हम दोनों एक ही कमरे में सोते थे। पहले दिन जब मैं रूम में गया तो जूही पहले ही सो चुकी थी। इस वक्त उसने टॉप और मिनी स्कर्ट पहना हुआ था, जिसमें से उसकी मक्खन सी चिकनी टांगें दिख रही थीं। मैं उसकी मरमरी टांगों की चिकनाहट और दूधिया रंगत को निहारता हुआ बिस्तर पर आ गया। मैं उसके साथ सट कर अपनी आँखें मूंद कर सोने की एक्टिंग करने लगा। मुझे पता था कि मेरे कारण वो थोड़ी डिस्टर्ब हो चुकी है।

फिर मैंने अंगड़ाई ली और उसके ऊपर बेध्यानी में पैर रख कर सोने का नाटक किया। फिर वो थोड़ा हिली तो.. लेकिन उठी नहीं।

इसके 5 मिनट बाद मैं धीरे-धीरे उसके पैर को मेरे पैर से सहलाने लगा.. जैसे मूवी में होता है। ऐसे करने के बाद भी उसका कोई रिएक्शन नहीं आया तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई। फिर मैं उससे बेख़ौफ़ चिपक गया।

मेरी छाती उसकी पीठ से लग गई और मेरा मुँह उसकी गर्दन के पीछे से लग गया। एक दो पल रुक कर माहौल का जायजा लिया और फिर मैंने उसकी गर्दन पर पीछे से अपनी गर्म साँसें छोड़ते हुए एक किस कर दिया और लगे हाथ मैंने उसके कान की लौ को भी अपने होंठों से छुआ।

तभी वो अचानक मेरी तरफ घूम गई और जैसे मैंने अपना पैर उसके ऊपर रखा था.. वैसे ही वो मेरे ऊपर पैर रख के मुझसे चिपक गई। उसकी उभरी हुई छातियां और मेरा चौड़ा सीना एकदम से चिपक गए।

मैंने धीरे से अपनी आँखों को खोला तो देखा कि उसके होंठ बिल्कुल मेरे नजदीक हैं, मैंने उसके होंठों से अपने होंठों को मिला कर किस कर लिया।
उसने बिना प्रतिरोध के अपनी आँखें बंद कर रखी थीं। मैं उसके होंठों को अपने अधरों से दबाते हुए उसकी प्रतिक्रिया का इंतज़ार कर रहा था.. कि वो कब किस करेगी। लेकिन उसने कोई रिएक्शन नहीं किया।

कुछ देर बाद मैं उठ कर बाथरूम गया और लंड हिलाना शुरू कर दिया। बाथरूम का गेट थोड़ा खुला हुआ था और तभी मैंने देखा कि जूही दरवाजे के करीब आकर मुझे देख रही थी। जैसे ही मैंने उसे देखा और ठीक उसी वक्त मेरा माल निकल आया। उसकी नशीली आँखें इस वक्त देखने लायक थीं।

वो मेरे लंड से निकलते माल की पिचकारियों को देख कर एकदम से शॉक्ड थी। उसे देख कर भी मैंने लंड को सहलाना नहीं रोका। लंड से माल निकल जाने के बाद मैं अपने लंड को धो कर साफ़ रहा था.. तभी वो वापस चली गई। मैंने देखा कि वो सीधे बिस्तर पर गई सो गई। कुछ देर बाद मैं भी उसके बाजू में जाकर सो गया।

दूसरे दिन उसने मुझसे कहा- सौरव कुछ ख़ा ले।

उसने ऐसा ट्रीट किया जैसे रात को कुछ हुआ ही नहीं था।
लेकिन मैंने महसूस किया कि वो शायद मेरे लंड के माल को दोबारा भरने के हिसाब से मुझसे खाने के लिए कह रही थी, या शायद मेरा ख्याल रख रही थी।

उसने मुझे ब्रेकफास्ट में पोहा तथा उसके साथ और भी बहुत कुछ खिलाया।
थोड़ी देर बाद खाने को केला भी दिया।

फिर लंच में रोटी और बहुत सारी हरी सब्जियां भी परोसीं। शाम को उसने मुझे मिल्क शेक पिलाया।

मिल्क शेक पिलाते वक़्त उसने मुझसे पूछा- कैसा लगा?
मैंने कहा- एक और गिलास पिऊंगा।

फिर उसने मुझे एक और गिलास दिया। रात को भी रोटी और सब्जियाँ कुछ कम नहीं थीं। रोटी खाने से सेक्स पॉवर बढ़ता है.. ये मैंने पता लगाया था।

अब मुझे रूम में जाने की जल्दी पड़ी थी लेकिन आज मैं कुछ देर से कमरे में गया। मैं हॉल में टीवी देख रहा था.. रात के एक बज गए और तभी अचानक जूही आ गई।
उसने मुझसे पूछा- क्या कर रहा है.. सोएगा नहीं?
मैंने ‘हाँ’ कहा।

फिर हम दोनों रूम में आ गए। मैंने जॉकी का शॉर्ट्स पहना हुआ था और उसने टॉप और मिनी पहना था।
उसने मुझसे कहा- सौरव दरवाजा लॉक कर दे।
मैंने गेट लॉक कर दिया।

अब हम बिस्तर पर आ गए थे।
मैंने जल्दी सो जाने का नाटक किया.. लेकिन मैंने अपने शॉर्ट्स का बटन खुला छोड़ दिया था और मैं रात को अंडरवियर नहीं पहनता हूँ। जब मैंने सोने का नाटक करते हुए खर्राटे भरना शुरू किए.. तो उसके थोड़ी देर बाद उसने मेरे लंड के ऊपर हाथ रख दिया। उसके हाथ रखते ही मेरा लंड सट से एक खंबे की तरह खड़ा हो गया। इससे उसे भी मालूम हो गया कि मैं अभी सोया हुआ नहीं था।

उसने लेटे-लेटे मेरे लंड को बाहर निकाला और हिलाना शुरू कर दिया। थोड़ी देर बाद वो उठ कर बैठ गई.. मैं उसे देख रहा था। उसने मेरे लंड पर अपना मुँह लगाया और मेरी आँखों में देखते हुए लंड को अपने मुँह में भर लिया।

अब वो अपने स्ट्रॉबेरी जैसे होंठों को मेरे लंड पर लगाते हुए लंड चूसने लगी।
वाऊ… वो लंड चुसवाने की फीलिंग आज भी याद आती है।
यह सिस्टर सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

फिर उसने उठने का नाटक किया और उसी वक्त मैंने उसके मम्मों को मसलना शुरू कर दिया। मैं थोड़ा नर्वस था और वो भी कुछ ऐसी हालत से गुजर रही थी।

मैंने जोर-जोर से उसकी चूचियों को दबाया। वो मुझे देख कर अपने मुँह को मेरे लंड पर जोर से हिलाने लगी।
अब मैंने उठ कर उसकी टॉप और मिनी उतारते हुए उसकी पेंटी भी निकाल दी, साथ में मैं खुद भी नंगा हो गया।

मैं उसे बिस्तर पर चित लिटा कर उसे चूमते हुए सिड्यूस करने लगा। मैंने उसके होंठों पर.. उसके कानों पर.. उसके गाल और नेक को अपने लार से सने होंठों से सहलाते हुए गीला कर दिया।
फिर 69 पोज़िशन में आकर मैंने उसकी शेव्ड चुत को चाटना शुरू कर दिया.. उसकी चुत को चाट कर मैंने एकदम रसीला कर दिया।

इसके बाद मैंने उंगली चुत में घुसा कर धीरे-धीरे फिंगर फक का खेल शुरू क्या उसकी आहें निकलना शुरू हो गई थीं। मैं लगातार जीभ से चुत को चाटता रहा। अब तक तीन बज चुके थे.. मुझे मालूम था कि 4 बजे मामी उठ जाती हैं। इसीलिए मैंने चुत पर लंड लगा कर धीरे-धीरे घुसेड़ दिया। उसे बहुत दर्द हुआ.. लेकिन धीरे-धीरे चोदने के बाद वो ठीक हो गई। अब तो वो अपने मम्मों को खुद प्रेस कर रही थी।

लंड घुसने के दस मिनट में ही उसने माल छोड़ दिया। मैंने लंड बाहर कर लिया था.. फिर दुबारा से लंड पोंछ कर पेल दिया।
अब मैंने जोर-जोर से धक्का मारना शुरू किया। कुछ ही पलों में उसने फिर से चुत झाड़ दी।

अबकी से उसने मुझे जोर से पकड़ कर कहा- मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा.. कहीं मैं प्रेगनेन्ट तो नहीं हो जाऊँगी?
मैंने कहा- कुछ नहीं होगा।

मुझे दिख रहा था कि वो बहुत थक चुकी थी। तभी मैंने अपना माल निकालने का प्रयास किया। ऐसा करते-करते मैंने सारा माल उसके स्ट्रॉबेरी जैसे होंठों पर डाल दिया.. उसने मुँह खोला दिया तो मेरा लंड रस उसके मुँह के अन्दर चला गया, उसने बड़े प्यार से मेरी रबड़ी को खा लिया।

हम दोनों ने इसके बाद लगभग 30 मिनट तक रेस्ट किया।

मैंने कहा- चल कर फ्रेश हो जाते हैं.. फिर गेट भी खोलना है, नहीं तो प्राब्लम हो जाएगी।
उसने कहा- आई लव यू.. मुझे ज़िंदगी भर तू याद रहेगा।
मैंने कहा- जब भी याद आए बुला लेना।

फिर हम दोनों फ्रेश हो कर सो गए।

इसके बाद जब तक मामा घर में रहे.. हम दोनों हर दिन चुत चुदाई का मजा लेते रहे।

मेरी सिस्टर सेक्स स्टोरी के लिए मेल कीजिएगा।
[email protected]

Check Also

एयर हॉस्टेस को अपनी होस्ट बनाया

नमस्ते दोस्तो.. वैसे तो मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, पर आज मैं भी आप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *